“उद्योग सहायक एंटरप्राइज नेटवर्क” पर ड्राफ्ट नीति जारी की गयी

फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (FICCI), टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (TISS) और अजीम प्रेमजी यूनिवर्सिटी ने उद्योग सहायक एंटरप्राइज नेटवर्क (USENET) फ्रेमवर्क ड्राफ्ट नीति पेश की है है।

USENET फ्रेमवर्क मसौदा नीति

  • उद्योग सहायक एंटरप्राइज नेटवर्क (USENET) फ्रेमवर्क इस विश्वास के आधार पर निर्धारित किया गया है कि भारत को और अधिक नैनो-उद्यमी बनाने के बजाय मौजूदा MSEs को विकसित करने पर ध्यान देना चाहिए।
  • 62 मिलियन से अधिक नैनो और सूक्ष्म-उद्यमों को विकास-संचालित सेवाएं प्रदान करने के उद्देश्य से इस फ्रेमवर्क को बनाया गया है।ऐसे नैनो और सूक्ष्म उद्यम वर्तमान में भारत में 100 मिलियन से अधिक लोगों को रोजगार देते हैं।
  • इस मसौदे में एक देशव्यापी उद्यमी नेटवर्क बनाने का लक्ष्य रखा गया है।

फ्रेमवर्क का उद्देश्य

यह फ्रेमवर्क नैनो और सूक्ष्म उद्यमों को नीतियों, सरकारी योजनाओं, ऋण विकल्पों, ऋणदाताओं और ग्राहकों के बारे में जानकारी प्रदान करने के उद्देश्य से बनाया गया है। यह एक ‘सपोर्ट सिस्टम’ भी बनाएगा जो उद्यमों को नई तकनीकों को अपनाने और उत्पादकता बढ़ाने में मदद करेगा।

फ्रेमवर्क का महत्व

यह ड्राफ्ट नीति नैनो और सूक्ष्म उद्यमों को एक प्रमुख प्रोत्साहन प्रदान करेगी जो अर्थव्यवस्था के अनौपचारिक क्षेत्र में वृद्धि के लिए चुनौती का सामना कर रहे हैं। यह फ्रेमवर्क नैनो और सूक्ष्म उद्यमों को मज़बूत करके पांच वर्षों में 10.3 मिलियन नौकरियां पैदा करने में मदद कर सकता है। इस प्रकार, इस फ्रेमवर्क में बड़ी संख्या में रोजगार पैदा करने की क्षमता है।

Categories:

Tags: , , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments