एनसीआर में वायु गुणवत्ता प्रबंधन के लिए गठित केंद्र के पैनल का विघटन किया गया

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के आसपास केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित वायु गुणवत्ता प्रबंधन के पैनल को अब भंग कर दिया गया है।

मुख्य बिंदु

इस पैनल को केंद्र सरकार द्वारा अक्टूबर, 2020 में स्थापित किया गया था। अब इस पैनल को भंग कर दया गया है क्योंकि इस पैनल को स्थापित करने के लिए जो अध्यादेश पारित किया गया था, वह अब समाप्त हो गया है। अध्यादेश को छह सप्ताह के भीतर संसद में पेश किया जाना था। लेकिन इसे निर्धारित समय के भीतर पेश नहीं किया गया था जिसके कारण अध्यादेश लैप्स हो गया था। इस पैनल का नेतृत्व पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के एक पूर्व सचिव एम.एम. कुट्टी ने किया था।

वायु गुणवत्ता प्रबंधन के लिए पैनल  

राष्ट्रपति के “Commission for Air Quality Management in National Capital Region (NCR) and Adjoining Areas Ordinance, 2020” पर हस्ताक्षर किए जाने के बाद वैधानिक प्राधिकरण को एयर क्वालिटी मैनेजमेंट के लिए कमीशन को स्थापित किया गया था। इस पैनल का गठन एनसीआर और आसपास के क्षेत्रों में वायु गुणवत्ता की निगरानी के लिए किया गया था।

पृष्ठभूमि

दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में वायु गुणवत्ता निगरानी और प्रबंधन कई निकायों जैसे EPCA, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB), राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में राज्य सरकारों द्वारा किया जाता है। उनकी निगरानी केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय (MoEFCC) और सुप्रीम कोर्ट द्वारा की जाती है।

Categories:

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments