एयर इंडिया साइबर अटैक : मुख्य बिंदु

एयर इंडिया ने हाल ही में घोषणा की है कि फरवरी 2021 में उसके डेटा प्रोसेसर पर एक साइबर हमले में एयर इंडिया के ग्राहक डेटा जैसे क्रेडिट कार्ड, पासपोर्ट और फोन नंबर लीक हो गए थे। इस साइबर हमले से लगभग 45 लाख ग्राहक प्रभावित हुए हैं, जो 26 अगस्त, 2011 से 3 फरवरी, 2021 के बीच पंजीकृत हुए थे।

मुख्य बिंदु

साइबर हमले में ग्राहकों के नाम, जन्म तिथि, संपर्क जानकारी और टिकट की जानकारी लीक हुई है। यह एक ‘अत्यधिक परिष्कृत’ (highly sophisticated) हमला था जिसने जिनेवा स्थित यात्री प्रणाली ऑपरेटर को निशाना बनाया जिसे SITA कहा जाता है। SITA ने सिंगापुर एयरलाइंस और लुफ्थांसा सहित एयर इंडिया को सेवाएं प्रदान करता है।

साइबर अटैक क्या है?

साइबर-हमला एक ऑनलाइन हमला है, जो साइबर अपराधियों द्वारा एकल या एकाधिक कंप्यूटरों या नेटवर्कों और ऐसी अन्य सूचना प्रणालियों के विरुद्ध किया जाता है। यह दुर्भावनापूर्ण रूप से कंप्यूटर को निष्क्रिय कर देता है और डेटा चुरा लेता है। कंप्यूटर या नेटवर्क पर हमला करने के लिए मैलवेयर, रैंसमवेयर, फ़िशिंग, सेवा से इनकार जैसे तरीकों का इस्तेमाल किया जाता है।

भारत में साइबर हमले

साइबर हमलों के अक्सर कारणों में शामिल हैं- स्पीयर फ़िशिंग, फ़िशिंग और सोशल इंजीनियरिंग, मैलवेयर, आउट ऑफ़ डेट सॉफ़्टवेयर और रैनसमवेयर इत्यादि। सबसे हालिया हमला माइक्रोसॉफ्ट द्वारा देखा गया था। साइबर अपराधी भारत और अन्य देशों में फ़िशिंग और रैंसमवेयर के तरीकों का उपयोग करके लोगों को धोखा देने के लिए 2020 में कोविड -19 स्थिति का उपयोग कर रहे हैं।

Categories:

Tags: , , ,

« »

Advertisement

Comments