ओडिशा में तोशाली राष्ट्रीय शिल्प मेले का उद्घाटन किया गया

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने 21 जनवरी को भुवनेश्वर में वार्षिक तोशाली राष्ट्रीय शिल्प मेला का उद्घाटन किया। इस शिल्प मेले का उद्घाटन वर्चुअली किया गया।

मुख्य बिंदु

तोशाली राष्ट्रीय शिल्प मेले में आने वाले सभी आगंतुकों को कोविड-19 मानदंडों का पालन करने की सलाह दी गई है। तोशाली शिल्प मेला पूर्वी भारत में सबसे लोकप्रिय हथकरघा और हस्तशिल्प मेलों में से है। इस इवेंट में तीन कारीगरों को राज्य हस्तशिल्प पुरस्कार 2019 प्रदान किया गया। यह तीन विजेता हैं- दिलीप कुमार स्वैन (ताड़ का पत्ता उत्कीर्णन), दिव्यज्योति बेहरा (पत्थर शिल्प), और प्रियंका पात्रा (टेराकोटा)। यह पुरस्कार हथकरघा, कपड़ा और हस्तशिल्प की राज्य मंत्री पद्मिनी दियान द्वारा दिया गया। सात अन्य कारीगरों को राज्य कलाकृती पुरस्कार से सम्मानित किया गया। राज्य कलाकृती पुरस्कार विजेता हैं : रोनीबाला महापात्रा (पटचित्र), सुशांत कुमार दास और नित्यानंद सा (पत्थर शिल्प), सुरेश चंद्र महापात्रा (applique), निर्मल चंद्र दास (ताड़ का पत्ता उत्कीर्णन) और कुनी पात्रा (कॉयर शिल्प) हैं।

इस इवेंट के लिए जनता मैदान स्थल पर कुल 250 स्टॉल लगाए गए हैं, जिसमें देश भर से सर्वश्रेष्ठ हथकरघा और हस्तशिल्प प्रदर्शित किए गए हैं। इनमे से 170 स्टाल ओडिशा वस्त्र और शिल्प का प्रतिनिधित्व करते हैं और 80 स्टॉल अन्य राज्यों के हैं।

तोशाली राष्ट्रीय शिल्प मेला 4 फरवरी तक (दैनिक दोपहर 2 बजे से 9 बजे तक) आम लोगों के लिए खुला है।

Categories:

Tags: , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments