ओमाइक्रोन (Omicron) बहुत अधिक वैश्विक जोखिम पैदा करता है : WHO

29 नवंबर, 2021 को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने चेतावनी दी कि; SARS-CoV-2 वायरस का नया संस्करण जिसे “ओमाइक्रोन” (Omicron) कहा जाता है, बहुत अधिक वैश्विक जोखिम रखता है।

मुख्य बिंदु 

  • प्रारंभिक साक्ष्य से पता चलता है कि, यह अत्यधिक उत्परिवर्तित कोरोनावायरस ‘गंभीर परिणामों’ के साथ वृद्धि का कारण बन सकता है।
  • इसने यह भी नोट किया कि, “काफी अनिश्चितताएं” ओमाइक्रोन के बारे में बनी हुई हैं, जिसे पहली बार दक्षिणी अफ्रीका में कुछ दिनों पहले पाया गया था।
  • इसने चेतावनी दी कि, यह संभव है कि संस्करण में उत्परिवर्तन हो, जो इसे प्रतिरक्षा-प्रणाली की प्रतिक्रिया से बचने में सक्षम बनाएगा। उत्परिवर्तन (mutation) एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलने की इसकी क्षमता को भी बढ़ावा देगा।
  • स्पेन ओमाइक्रोन संस्करण के अपने पहले पुष्ट मामले की रिपोर्ट करने वाला नवीनतम देश है।

देशों द्वारा उठाए गए कदम

  • जापान और इज़रायल ने सभी विदेशी आगंतुकों के प्रवेश पर रोक लगाने की घोषणा की।
  • मोरक्को ने आने वाली सभी उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया।
  • अमेरिका और यूरोपीय संघ के सदस्यों सहित अन्य देशों ने दक्षिणी अफ्रीका से आने वाले यात्रियों पर प्रतिबंध लगा दिया।

क्या भारत में ओमाइक्रोन प्रकार के मामले हैं?

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने राज्यसभा में कहा कि, भारत में अब तक ओमाइक्रोन वेरिएंट का कोई मामला सामने नहीं आया है।

SARS-CoV-2 ओमाइक्रोन वैरिएंट

इस प्रकार की रिपोर्ट सबसे पहले 24 नवंबर, 2021 को दक्षिण अफ्रीका से विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) को दी गई थी। 26 नवंबर को, SARS-CoV-2 वायरस के विकास पर WHO के तकनीकी सलाहकार समूह ने PANGO वंश B.1.1.1.529 को चिंताजनक वेरिएंट घोषित किया और इसे ओमाइक्रोन नाम दिया। इस वेरिएंट में असामान्य रूप से बड़ी संख्या में म्यूटेशन होते हैं।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments

  • Meha thakur
    Reply

    Ye virus kisko effect krega Jada