कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने कोविड-19 वैक्सीन के तीसरे चरण का क्लिनिकल ट्रायल लांच किया

हाल ही में कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा ने बेंगलुरु में कोवाक्सिन नामक कोविद 19 वैक्सीन के तीसरे चरण के नैदानिक ​​परीक्षण को लांच किया। हैदराबाद बेस्ड भारत बायोटेक लिमिटेड द्वारा कोवाक्सिन टीके को विकसित किया गया है।

मुख्य बिंदु

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने भारत बायोटेक को कोवाक्सिन के तीसरे चरण के परीक्षणों का संचालन करने की अनुमति दी है। एक बार टीका प्रभावकारिता स्तर प्राप्त करने के बाद, इसका बड़े पैमाने पर उत्पादन लिया जा सकता है।

केंद्र सरकार ने देश में वैक्सीन विकसित करने के लिए अनुसंधान के लिए 900 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं।  इस धनराशी का उपयोग मिशन कोविड सुरक्षा के प्रथम चरण के क्रियान्वयन के लिए किया जायेगा। इसका प्रथम चरण 12 महीने तक चलेगा। आवंटित धनराशि का उपयोग वैक्सीन के विकास और वैक्सीन के लाइसेंस के लिए किया जायेगा जो नैदानिक ​​चरण में हैं या नैदानिक ​​चरण में प्रवेश करने के लिए तैयार हैं। जैव प्रौद्योगिकी विभाग वर्तमान में दस टीकों के विकास का समर्थन कर रहा है।

COVAXIN

COVAXIN को भारत बायोटेक द्वारा नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के सहयोग से देश में विकसित किया गया था। इस वैक्सीन को बायो-सेफ्टी लेवल 3 बायो-कंसेंट सुविधा में विकसित किया गया था।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments