कांगो ने इबोला के प्रकोप की समाप्ति की घोषणा की

कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य (Democratic Republic of Congo) ने हाल ही में इबोला के 12वें प्रकोप के अंत की घोषणा की। एबोला के कारण उत्तरी किवु के पूर्वी प्रांत में 6 लोगों की मौत हो गयी थी।

इबोला के प्रकोप (Ebola Outbreak)

  • वर्तमान इबोला प्रकोप आनुवंशिक रूप से उस प्रकोप से जुड़ा था जो 2018-20 में हुआ था।
  • वर्तमान में, गिनी (Guinea) भी इबोला महामारी के खिलाफ भी लड़ रहा है।
  • इबोला वायरस की खोज 1976 में हुई थी। पश्चिम अफ्रीका में इबोला का 2014-16 का प्रकोप सबसे बड़ा इबोला प्रकोप है।
  • जून 2019 में, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य में वैश्विक स्वास्थ्य आपातकाल के रूप में घोषित किया था।

वैश्विक स्वास्थ्य आपातस्थिति (Global Health Emergency)

वैश्विक स्वास्थ्य आपातकाल की घोषणा तब की जाती है जब बीमारी का प्रकोप दूसरे देशों के लिए भी खतरा बन सकता है। इसके लिए समन्वित अंतर्राष्ट्रीय प्रतिक्रिया की आवश्यकता होती है।

इबोला वायरस (Ebola Virus)

  • इबोला वायरस जंगली जानवरों से लोगों तक पहुंचा है।यह मानव-से-मानव के माध्यम से मानव आबादी के बीच फैलता है।
  • इस इबोला वायरस के प्राकृतिक मेजबान फल चमगादड़ (fruit bats) हैं।
  • इबोला के निदान के लिए इस्तेमाल की जाने वाली विधियाँ ELISA, Serum neutralization test, electron microscopy, virus isolation by cell culture, reverse transcriptase polymerase chain reaction (RT-PCR), antigen capture detection tests हैं।
  • इबोला की मृत्यु दर 50% है।

2019 में, WHO ने इबोला को वैश्विक स्वास्थ्य के लिए शीर्ष दस खतरों में से एक घोषित किया था। अन्य खतरे गैर-संचारी रोग, वायु प्रदूषण, जलवायु परिवर्तन, वैश्विक इन्फ्लूएंजा महामारी, एंटी-माइक्रोबियल प्रतिरोध, कमजोर स्वास्थ्य देखभाल, एचआईवी, वैक्सीन झिझक इत्यादि थे।

इबोला के टीके

  • rVSV-ZEBOV एक इबोला वैक्सीन थी जिसका इस्तेमाल 2015 में गिनी में किया गया था।
  • इसका इस्तेमाल कांगो में 2018-19 इबोला के प्रकोप के दौरान भी किया गया था।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments