काजीरंगा नेशनल पार्क बना वन रक्षकों को सैटेलाइट फोन से लैस करने वाला भारत का पहला राष्ट्रीय उद्यान

असम का काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान (Kaziranga National Park) सैटेलाइट फोन से लैस होने वाला भारत का पहला राष्ट्रीय उद्यान बन गया है।

मुख्य बिंदु 

  • असम के मुख्य सचिव जिष्णु बरुआ द्वारा काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान के वन कर्मियों को लगभग 10 सैटेलाइट फोन सौंपे गए ।
  • यह निर्णय 27 मई, 2021 को असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिया गया।

महत्व

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान के एक अधिकारी के अनुसार, इस कदम से पार्क में अवैध शिकार रोकने वाले उपायों को बढ़ावा मिलेगा। इन सैटेलाइट फोनों का इस्तेमाल पार्क की छह श्रेणियों में किया जाएगा, जहां कोई वायरलेस कनेक्टिविटी नहीं है या खराब मोबाइल कनेक्टिविटी है।

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (Assam State Disaster Management Authority – ASDMA) ने इस पार्क के लिए 16 लाख रुपये की अनुमानित लागत से सैटेलाइट फोन खरीदे हैं। इसके लिए सेवा BSNL द्वारा प्रदान की जाएगी जबकि मासिक खर्च पार्क अधिकारियों द्वारा पूरा किया जाएगा। BSNL ने वन कर्मियों को उन क्षेत्रों में सैटेलाइट फोन संचालित करने के लिए भी प्रशिक्षित किया जहां सैटेलाइट फोन काम नहीं करते।

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान (Kaziranga National Park)

यह राष्ट्रीय उद्यान असम राज्य के गोलाघाट, कार्बी आंगलोंग और नागांव जिले में फैला हुआ है। यहाँ पर दुनिया के दो-तिहाई एक-सींग वाले गैंडे पाए जाते हैं। इस पार्क को विश्व धरोहर स्थल के रूप में भी सूचीबद्ध किया गया है। 2018 की जनगणना के अनुसार काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान में 2,413 गैंडे हैं। इसमें 1,641 वयस्क गैंडे, 387 उप-वयस्क और 385 बछड़े शामिल हैं। काजीरंगा दुनिया में संरक्षित क्षेत्रों में बाघों के उच्चतम घनत्व के लिए जाना जाता था। इसे 2006 में टाइगर रिजर्व घोषित किया गया था। वर्तमान में, सबसे अधिक बाघ घनत्व असम के ओरंग राष्ट्रीय उद्यान (Orang National Park) में है।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments