कृषि में सहयोग के लिए भारत और फिजी ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये

केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर और फिजी के कृषि, जलमार्ग और पर्यावरण मंत्री डॉ. महेंद्र रेड्डी के बीच कृषि और संबद्ध क्षेत्रों में सहयोग के लिए एक समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किए गए।

मुख्य बिंदु

  • भारत और फिजी आपसी सम्मान, सहयोग और मजबूत सांस्कृतिक और लोगों से लोगों के संबंधों पर आधारित सौहार्दपूर्ण और मैत्रीपूर्ण संबंध साझा करते हैं।
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फिजी यात्रा और Forum for India Pacific Islands Cooperation ने फिजी और प्रशांत क्षेत्र के साथ भारत के जुड़ाव को और बढ़ावा दिया है।
  • इसी की तर्ज पर इस एमओयू पर हस्ताक्षर से दोनों देशों के बीच बहुआयामी सहयोग और मजबूत होगा।

दोनों  देशों के बीच सहयोग

खाद्य और कृषि का जलवायु परिवर्तन से गहरा संबंध है। दोनों देश कृषि में वैश्विक चुनौतियों से निपटने के लिए सहयोग कर रहे हैं। कोविड-19 महामारी के बीच, भारत ने फिजी को चक्रवात यास से प्रभावित समुदायों की आजीविका बहाली के लिए अनुदान के रूप में 14 किस्मों के फलों और सब्जियों के लगभग 7 टन बीज वितरित किए हैं।

समझौता ज्ञापन के बारे में

दोनों देशों के बीच यह समझौता ज्ञापन डेयरी उद्योग विकास, जड़ फसल विविधीकरण, चावल उद्योग विकास, जल संसाधन प्रबंधन, खाद्य प्रसंस्करण उद्योग विकास, नारियल उद्योग विकास, कृषि मशीनीकरण, पशुपालन, कृषि अनुसंधान, बागवानी उद्योग विकास, कीट के क्षेत्र में सहयोग को बढ़ावा देना है। यह समझौता ज्ञापन कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय, भारत और कृषि मंत्रालय, फिजी द्वारा निष्पादित किया जाएगा। प्रक्रियाओं को निर्धारित करने के लिए एक संयुक्त कार्य समूह भी स्थापित किया जाएगा। यह एमओयू पांच साल के लिए वैध होगा।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments