केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने असम में 20 राजमार्ग परियोजनाओं की आधारशिला रखी

25 दिसम्बर, 2020 को केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने घोषणा की कि बालाचहेरा और हरंगाजाओ के बीच सिलचर-सौराष्ट्र महासड़क का 25.2 किलोमीटर लंबा खंड मार्च 2022 तक बनकर तैयार हो जाएगा। इस दौरान उन्होंने घोषणा की कि बराक नदी पर दो पुल और एक मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक पार्क (एमएमएलपी) का निर्माण भी किया जायेगा।

मुख्य बिंदु

नितिन गडकरी ने असम में 20 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं की आधारशिला रखी, जबकि इस दौरान उन्होंने  पूर्ण हो चुकी 7 पूर्ण परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित किया। गौरतलब है कि  इन परियोजनाओं की लंबाई लगभग 439 किलोमीटर है और इनका निर्माण 2,366 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है।

इस मौके पर नितिन गडकरी ने स्पष्ट किया कि राज्य में 85,000 करोड़ रुपये के सड़क और बुनियादी ढांचे के कार्य किए जाएंगे। असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने कहा कि ये राजमार्ग परियोजनाएं राज्य में परिवहन के माध्यम से परिवर्तन लाएंगी। इससे राज्य के आर्थिक विकास को भी बल मिलेगा। गौरतलब है कि उत्तर-पूर्वी भारत सड़क अधोसंरचना के मामले में देश के सबसे पिछड़े क्षेत्रों में से एक है।

इस दौरान केन्द्रीय मंत्री गडकरी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की 13 फीट की कांस्य प्रतिमा का अनावरण भी किया। यह उत्तर-पूर्वी भारत में अटल बिहारी वाजपेयी जी की पहली प्रतिमा है।

Categories:

Tags: , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments