केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना- शहरी (PMAY-U) के तहत 3.61 लाख घरों के निर्माण को मंजूरी दी

केंद्रीय मंजूरी और निगरानी समिति (Central Sanctioning and Monitoring Committee – CSMS) की 54वीं बैठक के दौरान , केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना – शहरी (PMAY-U) के तहत 3.61 लाख घरों के निर्माण के लिए 708 प्रस्तावों को मंजूरी दी है।

मुख्य बिंदु

इस बैठक में 13 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने भाग लिया। इन सभी मकानों का निर्माण ‘लाभार्थी आधारित निर्माण’ और ‘साझेदारी कार्यक्षेत्र में किफायती आवास’ की तर्ज पर किया जाएगा। इस मिशन के तहत कुल निवेश 7.35 लाख करोड़ रुपये है जिसमें से केंद्र 1.81 लाख करोड़ रुपये की सहायता कर रहा है। अब तक 96,067 करोड़ की धनराशि जारी की जा चुकी है।

अब तक कितने घर बन चुके हैं?

  • प्रधानमंत्री आवास योजना-शहरी के अंतर्गत स्वीकृत मकानों की कुल संख्या 4 लाख है।
  • 5 लाख घरों को निर्माण के लिए आधार बनाया गया है और
  • अब तक 31 लाख पूरे बन चुके हैं।

लाइटहाउस परियोजनाएं (Lighthouse Projects)

इस बैठक के दौरान, आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय ने 6 लाइट हाउस परियोजनाओं (LHP) पर बल दिया। इन लाइटहाउस की आधारशिला पीएम नरेंद्र मोदी ने जनवरी, 2021 में रखी थी। इनका निर्माण इंदौर, लखनऊ, राजकोट, रांची, अगरतला और चेन्नई में किया जा रहा है।

PMAY-U अवार्ड्स 2021

मिशन को सफलतापूर्वक लागू करने के लिए शहरी स्थानीय निकायों (ULBs), राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा उत्कृष्ट प्रदर्शन और योगदान को सम्मानित करने के लिए ‘PMAY-U Awards 2021- 100 Days Challenge’ शुरू किया गया था।

प्रधानमंत्री आवास योजना-शहरी (Pradhan Mantri Awas Yojana-Urban)

आवास और शहरी मामलों का मंत्रालय इस मिशन को लागू कर रहा है, जिसे जून, 2015 में शहरी आवास की कमी की समस्या को दूर करने के लिए शुरू किया गया था। यह योजना 2022 तक सभी योग्य शहरी परिवारों को पक्के घर उपलब्ध कराने का प्रयास करती है।

Categories:

Tags: , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments