केरल का जेंडर पार्क – मुख्य तथ्य

केरल में देश का पहला “जेंडर पार्क” 11 फरवरी से चालू हो जाएगा। इसका निर्माण300 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है। यह लैंगिक समानता की दिशा में राज्य का एक महत्वपूर्ण कदम है।

मुख्य बिंदु

यह जेंडर पार्क 11 फरवरी को ‘इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस ऑन जेंडर इक्वेलिटी’ (ICGE-II) के दूसरे संस्करण के साथ चालू हो जाएगा। इस जेंडर पार्क और ICGE-II का उद्घाटन केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन करेंगे। ICGE-II का आयोजन 11 फरवरी से 13 फरवरी, 2021 तक किया जाएगा।

इस सम्मेलन के उद्घाटन के दिन, International Women’s Trade and Research Centre (IWTRC) की नींव भी रखी जाएगी। इस IWTRC का उद्देश्य महिला उद्यमियों के लिए एक सुरक्षित पारिस्थितिकी तंत्र प्रदान करना है।

इस इवेंट के दौरान एक जेंडर म्यूजियम, कन्वेंशन सेंटर, जेंडर लाइब्रेरी और एक एम्फीथिएटर भी लॉन्च किया जाएगा। इन चार सुविधाओं के लॉन्च से जेंडर पार्क का पहला चरण तैयार होगा। जेंडर म्यूजियम महिलाओं के विभिन्न सामाजिक संघर्षों, उनकी स्थिति में बदलाव, उपलब्धियों आदि का प्रदर्शन करेगा।

ICGE II

ICGE-II महिलाओं और ट्रांसजेंडरों की आर्थिक क्षमता को मजबूत करने के तरीके दूंढेगा ताकि उन्हें स्थायी उद्यमी बनाया जा सके। इस आयोजन का मुख्य विषय ‘Gender in Sustainable Entrepreneurship and Social Business: The Mediating Role of Empowerment’ होगा। यह UN Women (संयुक्त राष्ट्र का हिस्सा) के सहयोग से पार्क के परिसर में आयोजित किया जा रहा है।

Categories:

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments