कैबिनेट ने भारत और जापान के बीच “निर्दिष्ट कुशल श्रमिक” (Specified Skilled Worker) समझौता ज्ञापन को मंजूरी दी

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने हाल ही में भारत और जापान के बीच “निर्दिष्ट कुशल श्रमिक” (Specified Skilled Worker) समझौता ज्ञापन को मंजूरी दी।

समझौते की मुख्य विशेषताएं

  • इस समझौते के तहत, भारत कुशल श्रमिकों को जापान भेजेगा।
  • यह समझौता ज्ञापन कुशल श्रमिकों को स्वीकार करने के लिए भारत और जापान के बीच सहयोग के लिए एक संस्थागत ढांचा स्थापित करेगा।इसके लिए एकमात्र शर्त यह है कि श्रमिकों को आवश्यक कौशल परीक्षण और जापानी भाषा के परीक्षण को क्वालीफाई करना होगा।
  • इस समझौता ज्ञापन के अनुसार, योग्य भारतीय श्रमिक जापान में 14 निर्दिष्ट क्षेत्रों में काम कर सकते हैं।इस समझौते के अनुसार भारतीय श्रमिकों को “निर्दिष्ट कुशल श्रमिक” (Specified Skilled Worker) के निवास का नया दर्जा प्रदान किया जायेगा।
  • इस समझौता ज्ञापन को लागू करने के लिए एक संयुक्त कार्य समूह का गठन किया जायेगा।
  • यह भारत से जापान तक श्रमिकों और कुशल पेशेवरों की गतिशीलता को बढ़ावा देगा।

समझौते में शामिल 14 सेक्टर

इस समझौते में शामिल 14 सेक्टर हैं : औद्योगिक मशीनरी, बिल्डिंग क्लीनिंग, नर्सिंग केयर, मैटेरियल प्रोसेसिंग इंडस्ट्री, इलेक्ट्रॉनिक इंफॉर्मेशन इंडस्ट्री, इंडस्ट्रियल मशीनरी मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री, शिपबिल्डिंग इंडस्ट्री, एविएशन, ऑटोमोबाइल मेंटेनेंस, लॉजिंग, एविएशन, फिशरीज, एग्रीकल्चर, खाद्य और पेय पदार्थ विनिर्माण उद्योग, खाद्य सेवा उद्योग, निर्माण।

भारत-जापान की प्रमुख परियोजनाएँ

  • 2015 में, भारत जापान की हाई-स्पीड बुलेट ट्रेन शिंकानसेन प्रणाली शुरू करने पर सहमत हुआ ।
  • भारत और जापान ने ‘एक्ट ईस्ट फोरम’ का गठन किया था जिसका उद्देश्य उत्तर पूर्व भारत और जापान में सहयोग का विस्तार करना है।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments