कोविशील्ड और कोवैक्सिन की मिश्रित खुराक बेहतर प्रतिरक्षा पैदा करती है : ICMR अध्ययन

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (Indian Council of Medical Research – ICMR) ने एक अध्ययन में पाया कि कोविशील्ड (Covishield) की एक खुराक के बाद कोवाक्सिन (Covaxin) की एक खुराक लेने से प्रतिरक्षा (immunity) में काफी वृद्धि होती है।

मुख्य बिंदु

  • ‘Serendipitous Covid-19 Vaccine-Mix in Uttar Pradesh, India: Safety and Immunogenicity Assessment of a Heterologous Regime’ अध्ययन ICMR वैज्ञानिक रजनी कांत द्वारा किया गया था।
  • वैक्सीन के ये मिले-जुले नियम टीकों की कमी की चुनौतियों पर काबू पाने और लोगों के मन में टीकों से जुड़ी झिझक को दूर करने में भी मदद करेंगे।
  • हालांकि, इन निष्कर्षों को साबित करने के लिए, एक बहुकेंद्र यादृच्छिक नैदानिक ​​परीक्षण (multicentre random clinical trial) करने की आवश्यकता है।
  • इस अध्ययन में यह भी पाया गया कि, कोई बड़ी प्रणालीगत प्रतिकूल घटनाओं (systemic adverse events) की सूचना नहीं मिली थी।

मिश्रित खुराक पर WHO

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुख्य वैज्ञानिकों ने हाल ही में व्यक्तियों को विभिन्न निर्माताओं के COVID-19 टीकों के मिश्रण और मिलान के खिलाफ सलाह दी थी और कहा था कि, इस तरह के निर्णय सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिकारियों पर छोड़ दिए जाने चाहिए। जून 2021 में, WHO के स्ट्रेटेजिक एडवाइजरी ग्रुप ऑफ एक्सपर्ट्स ने टीकों पर ध्यान दिया कि, फाइजर  वैक्सीन को एस्ट्राजेनेका की प्रारंभिक खुराक के बाद दूसरी खुराक के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है, अगर बाद वाला उपलब्ध नहीं है।

Categories:

Tags: , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments