गूगल और माइक्रोसॉफ्ट ने भारत को COVID-19 से निपटने के लिए फंडिंग की घोषणा की

गूगल और माइक्रोसॉफ्ट ने हाल ही में भारत को COVID-19 से लड़ने में मदद करने के लिए प्रतिबद्धता ज़ाहिर की है। गूगल 18 मिलियन डॉलर (135 करोड़ रुपये) प्रदान करेगा। माइक्रोसॉफ्ट ऑक्सीजन कंसंट्रेशन उपकरणों को खरीदने के लिए राहत प्रयासों के साथ भारत की मदद करेगा।

मुख्य बिंदु

  • अनुदान के रूप में गूगल की राहत राशि गैर-लाभकारी संगठनों यूनिसेफ और GiveIndia को जाएगी।
  • GiveIndia के माध्यम से, गूगल महामारी से प्रभावित परिवारों को नकद सहायता प्रदान करेगा।
  • यूनिसेफ को प्रदान किए जा रहे अनुदान का उपयोग तत्काल चिकित्सा आपूर्ति करने के लिए किया जायेगा। इसमें परीक्षण उपकरण और जीवन रक्षक ऑक्सीजन उपकरण शामिल हैं।
  • साथ ही, 900 से अधिक गूगल कर्मचारियों ने कुल 7 करोड़ रुपये का भुगतान किया।

ट्विटर और फेसबुक

जब सुंदर पिचाई और नडेला ने सहायता की घोषणा की, उस वक्त जैक डोरसी और जकरबर्ग चुप थे। जैक डोर्सी ट्विटर के सीईओ हैं। मार्क जकरबर्ग फेसबुक के सीईओ हैं। हाल ही में, सेंसरशिप और गोपनीयता नीतियों के कारण भारत सरकार के साथ  डोरसी और जुकरबर्ग के संबंध कुछ हद तक तनावपूर्ण हो गये थे।

भारत सरकार और Twitter, Facebook के बीच क्या मुद्दा है?

2019 में, भारत सरकार ने ट्विटर, फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को जनवरी और अक्टूबर, 2019 के बीच 3,433 URL हटाने का आदेश दिया था। 2016 के बाद से यह संख्या पांच गुना बढ़ गई है। यह सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 69 A के तहत किया गया था।

सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम एक्ट की धारा 69 A

यह कंप्यूटर संसाधन के माध्यम से किसी भी जानकारी के सार्वजनिक उपयोग को अवरुद्ध करने की शक्तियाँ प्रदान करता है। निर्देशों का पालन करने में विफल रहने वाले व्यक्तियों को सात साल तक के कारावास की सजा दी जा सकती है।

Categories:

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments