गो फॉर जीरो पॉलिसी क्या है?

ऑस्ट्रेलिया की “गो फॉर जीरो” नीति ने देश को अपने COVID-19 मामलों को कम करने में मदद की है।

ऑस्ट्रेलिया की गो फॉर जीरो पालिसी सरकार ने क्वारंटाइन तोड़ने वाले यात्रियों के मुद्दे से निपटने के लिए एक क्यूआर कोड-आधारित प्रणाली शुरू की थी। इस प्रणाली ने संबंधित व्यक्ति को ट्रैक करने में मदद की।
ऑस्ट्रेलिया में स्वास्थ्य होटल स्थापित किए गए थे। ये होटल रोगग्रस्त यात्रियों के लिए स्थापित किये गये हैं।
इस नीति के तहत ऑस्ट्रेलिया ने श्रमिकों और व्यवसायों का समर्थन भी किया। लोगों को कार्य में बनाये रखने के लिए और बेरोजगारी लाभ में वृद्धि करने के लिए सब्सिडी प्रदान की जाती है। सितंबर के महीने में जैसे ही कोविड-19 के मामले कम होने लगे, ऑस्ट्रेलिया ने धीरे-धीरे लॉकडाउन को हटा दिया।
अब ऑस्ट्रेलिया में स्कूलों और व्यवसायों को फिर से खोल दिया गया है। इसके अलावा अंतिम संस्कार, शादी और धार्मिक समारोहों की अनुमति दी गई है।

पृष्ठभूमि

पिछले हफ्ते ऑस्ट्रेलिया में हर रोज सिर्फ 10 मामले सामने आए हैं। इस कमी को स्पष्ट रूप से विक्टोरिया राज्य में देखा गया है जो देश का दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला राज्य है। इससे पहले अगस्त 2020 में विक्टोरिया ने जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के अनुसार रोजाना 700 दैनिक संक्रमण दर्ज किये गये थे। इसके अलावा 27 अक्टूबर, 2020 के बाद ऑस्ट्रेलिया ने केवल एक कोविड-19 संबंधित मौत की सूचना दी है। देश में 28,000 संक्रमणों में से केवल 44 मामले वर्तमान में सक्रिय हैं।

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments