ग्लोबल फायरपावर इंडेक्स, 2021 : मुख्य बिंदु

ग्लोबल फायरपावर इंडेक्स में देशों को उनकी संभावित सैन्य ताकत के आधार पर रैंक किया जाता है। इस सूचकांक में भारत को चौथा स्थान दिया गया है। ग्लोबल फायरपावर इंडेक्स 138 देशों को रैंक किया गया है। इन देशों का मूल्यांकन लंबे समय तक आक्रामक और रक्षात्मक सैन्य अभियानों के आधार पर किया गया है।

मुख्य बिंदु

अमेरिका 904 अटैक हेलीकॉप्टर और 11 एयरक्राफ्ट कैरियर के साथ सूचकांक में सबसे ऊपर है। इसके अलावा, अमेरिका के पास 68 पनडुब्बियां और 40,000 आर्मर्ड व्हीकल हैं। अमेरिका के बाद रूस दूसरे स्थान पर है, रूस के पास 189 लड़ाकू विमान और 538 अटैक हेलीकॉप्टर है। रूस के पास 13,000 टैंक और 64 पनडुब्बियां हैं।

इस सूची में चीन तीसरे स्थान पर है, चीन के पास 1,200 लड़ाकू विमान, 327 अटैक हेलीकॉप्टरों और 79 पनडुब्बियां है। इसके अलावा, चीन के पास 35,000 बख्तरबंद वाहन हैं। इस सूचकांक में भारत चौथे स्थान पर है, भारत के पास 542 लड़ाकू विमान, 17 पनडुब्बियां, 4,730 टैंक और 37 अटैक हेलीकॉप्टर हैं।

इस सूची में भारत पांचवें स्थान पर है, जापान के पास 2 हेलीकॉप्टर कैरियर, 27 डिस्ट्रॉयर हैं। इस सूची में दक्षिण कोरिया को छठा और उत्तर कोरिया को 28वां स्थान प्राप्त हुआ है।

ग्लोबल फायरपावर इंडेक्स, 2021

ग्लोबल फायरपावर इंडेक्स की गणना भूगोल से लेकर लॉजिस्टिक क्षमता तक पचास व्यक्तिगत कारकों का उपयोग करके की जाती है। इसमें जनशक्ति, थल सेना, वायु सेना, प्राकृतिक संसाधन, नौसेना बल, लॉजिस्टिक्स और वित्त भी शामिल हैं।

पाकिस्तान

ग्लोबल फायरपावर इंडेक्स में पाकिस्तान दसवें स्थान पर है। पाकिस्तान ने सैन्य शक्ति के मामले में इजरायल, इंडोनेशिया, ईरान और कनाडा को पीछे छोड़ दिया है। वर्तमान में पाकिस्तान का वार्षिक रक्षा बजट 7 बिलियन अमरीकी डालर है।

Categories:

Tags: , , ,

« »

Advertisement

Comments