चीन की तियानवेन-1 प्रोब ने मंगल की कक्षा में प्रवेश किया

तियानवेन-1 नाम का एक चीनी अंतरिक्ष यान 10 फरवरी, 2021 को सफलतापूर्वक मंगल की कक्षा में प्रवेश कर गया।

मुख्य बिंदु

  • पृथ्वी से साढ़े 6 महीने का सफर तय करने के बाद इस प्रोब ने मंगल ग्रह की कक्षा में प्रवेश किया।
  • यह मिशन मंगल ग्रह पर चीन का पहला स्वतंत्र मिशन है।
  • कक्षा में पहुंचने के बाद, रोबोट प्रोब को शुरू किया गया और थ्रस्टर्स के 15 मिनट चालू किया गया।

मिशन का उद्देश्य

  • तियानवेन -1 मिशन एक लैंडिंग कैप्सूल भेजने का प्रयास करेगा जो 240 किलोग्राम के रोवर को ले जायेगा। इसरोवर को मंगल के उत्तरी गोलार्ध में भेजा जाएगा जिसे यूटोपिया प्लैनिटिया कहा जाता है।
  • इस रोवर को सफलतापूर्वक लैंड करने के बाद, सौर ऊर्जा से चलने वाला रोवर 90 दिनों के लिए मंगल की सतह की खोज करेगा।
  • यह रोवर मिट्टी का अध्ययन करेगा और यह भी पता लगाएगा की प्राचीन काल में जीवन के संकेत की खोज करेगा।

तियानवेन-1

तियानवेन-1, चीन के राष्ट्रीय अंतरिक्ष प्रशासन (CNSA) का एक अंतर-ग्रहीय मिशन है। इस मिशन के तहत, सीएनएसए ने मंगल ग्रह पर एक रोबोटिक अंतरिक्ष यान भेजा है। अंतरिक्ष यान में एक ऑर्बिटर, एक डिप्लोयबल कैमरा, एक लैंडर और एक रोवर है। इस स्पेसक्राफ्ट को 23 जुलाई, 2020 को वेनचांग स्पेसक्राफ्ट लॉन्च साइट से सफलतापूर्वक लॉन्च किया गया था। इसे लॉन्ग मार्च 5 हैवी-लिफ्ट लॉन्च वाहन से लॉन्च किया गया था।

Categories:

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments