चीन ने ताइवान के पास अब तक का सबसे बड़ा सैन्य अभ्यास शुरू किया

अमेरिकी हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी की यात्रा के बाद चीन ने ताइवान के पास अपना अब तक का सबसे बड़ा सैन्य अभ्यास शुरू कर दिया है। चीनी मीडिया इस अभ्यास को ‘पुनर्एकीकरण प्रक्रिया’ (reunification process) के लिए पूर्वाभ्यास बता रहा है। यह अभ्यास ताइवान के छह क्षेत्रों में चल रहा है। इस अभ्यास में चीन की नौसेना, वायुसेना और अन्य विभाग हिस्सा ले रहे हैं।

मुख्य बिंदु 

  • इस युद्ध अभ्यास के दौरान चीन ने ताइवान के 6 प्रमुख क्षेत्रों का चयन किया।
  • इस अवधि के दौरान, सभी जहाजों और विमानों को प्रासंगिक समुद्री क्षेत्रों और हवाई क्षेत्र में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी गई है।
  • जवाब में, ताइवान ने भी अपनी सेना को सतर्क कर दिया है और कई नागरिक सुरक्षा अभ्यासों का मंचन किया है।
  • इसके अलावा, अमेरिका ने कई नौसैनिक संपत्तियां भी संघर्ष क्षेत्र में रखी हैं।

हालिया संघर्ष का कारण

हाउस ऑफ़ रिप्रेजेन्टेटिव्स  की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी की ताइवान यात्रा के बाद चीन का सबसे बड़ा अभ्यास शुरू हुआ। चीनी धमकियों की अनदेखी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की चेतावनी के बाद उनकी यात्रा निर्धारित की गई थी। पेलोसी की यात्रा 25 वर्षों में अमेरिकी अधिकारियों द्वारा ताइवान की सर्वोच्च स्तरीय यात्रा है। लेकिन चीन को इस यात्रा से समस्या थी, क्योंकि यह कदम ताइवान की स्वतंत्रता के लिए अमेरिका के समर्थन का संकेत देता है। चीन का मानना ​​है कि ताइवान उसकी ‘वन चाइना पॉलिसी’ का हिस्सा है। दूसरी ओर, अमेरिका इस मामले पर रणनीतिक अस्पष्टता बनाए हुए है।

Categories:

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments