चीन ने तीन बच्चों की नीति (Three-Child Policy) को मंजूरी दी

चीन की राष्ट्रीय विधायिका ने औपचारिक रूप से सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा प्रस्तावित  तीन बच्चों की नीति (Three-Child Policy) का समर्थन किया।

मुख्य बिंदु

  • चीनी अधिकारियों के अनुसार, तीन दशकों से अधिक समय से लागू की गई एक बच्चे की नीति ने लगभग 400 मिलियन जन्मों को रोका है।
  • तीन बच्चों की नीति एक प्रमुख नीतिगत बदलाव है जिसका उद्देश्य दुनिया के सबसे अधिक आबादी वाले देश (चीन) में जन्म दर में भारी गिरावट को रोकना है।
  • यह संशोधित जनसंख्या और परिवार नियोजन कानून चीनी जोड़ों को तीन बच्चे पैदा करने की अनुमति देता है। इसे नेशनल पीपल्स कांग्रेस (NPC) की स्थायी समिति द्वारा पारित किया गया था।

पृष्ठभूमि

मई 2021 में, सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (CPC) ने सख्त दो बच्चों की नीति में ढील को मंजूरी दी और सभी जोड़ों को तीन बच्चे पैदा करने की अनुमति दी।

दो बच्चों की नीति (Two Child Policy)

चीन ने दशकों पुरानी एक बच्चे की नीति को खत्म करके 2016 में सभी जोड़ों को दो बच्चे पैदा करने की अनुमति दी थी। इस नीति को चीन में नीति निर्माताओं द्वारा जनसांख्यिकीय संकट माना जाता है। एक बच्चे की नीति तीन दशकों से अधिक समय से लागू थी जिसने 400 मिलियन से अधिक जन्मों को रोका है।

तीन बच्चों की नीति को क्यों मंजूरी दी गई?

यह निर्णय जनगणना के आंकड़ों के बाद लिया गया था, जिसमें दिखाया गया था कि चीन में जनसंख्या सबसे धीमी गति से बढ़कर 1.412 बिलियन हो गई है। नए जनगणना के आंकड़ों के अनुसार, जनसांख्यिकीय संकट गहराने की उम्मीद थी क्योंकि 60 साल से ऊपर के लोगों की आबादी 18.7% बढ़कर 264 मिलियन हो गई है। आने वाले समय में चीन में काम करने वाली जनसँख्या के मुकाबले वृद्ध लोगों की जनसँख्या अधिक हो जाएगी, जिससे चीन में श्रम बल का अभाव होगा जो चीन की अर्थव्यवस्था को हानि पहुंचा सकता है।

Categories:

Tags: , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments