चुनाव आयोग ने 2019 के आम चुनावों पर एटलस जारी किया

भारत निर्वाचन आयोग ने हाल ही में ‘General Elections 2019: An Atlas’ जारी किया।

मुख्य बिंदु

  • इस एटलस को मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा और चुनाव आयुक्त राजीव कुमार और चुनाव आयुक्त अनूप चंद्र पांडे ने जारी किया।
  • यह दस्तावेज़ शोधकर्ताओं और शिक्षाविदों के लिए फायदेमंद होगा और भारतीय चुनावों के विशाल परिदृश्य की खोज में मदद करेगा।

General Elections 2019: An Atlas

  • इस आम चुनाव एटलस में आम चुनाव 2019 के सभी सांख्यिकीय आंकड़े और डेटा शामिल हैं।
  • इसमें 90 टेबल और 42 विषयगत मानचित्र शामिल हैं जो चुनाव के विभिन्न पहलुओं को दर्शाते हैं।
  • यह भारतीय चुनावों से संबंधित दिलचस्प तथ्यों और कानूनी प्रावधानों को भी प्रदान करता है।
  • यह हाइलाइट करता है कि :
  1. 23 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के डेटा जहां महिला मतदान प्रतिशत पुरुष मतदान प्रतिशत से अधिक था।
  2. उम्मीदवारों या निर्वाचकों के संबंध में सबसे छोटे और सबसे बड़े संसदीय क्षेत्र के बारे में जानकारी।
  3. राजनीतिक दलों का प्रदर्शन।
  • इसमें विभिन्न आयु वर्गों के मतदाता लिंग अनुपात और निर्वाचकों की तुलना चार्ट के माध्यम से विभिन्न श्रेणियों से संबंधित मतदाताओं के डेटा शामिल हैं।इस एटलस के अनुसार, इतिहास में 2019 के आम चुनावों के दौरान सबसे कम लिंग अंतर देखा गया।
  • यह 1951 के बाद से आम चुनावों में लड़ने वाले उम्मीदवारों की संख्या की भी तुलना करता है। 2019 के आम चुनावों में कुल 8054 योग्य उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा था।

एटलस के लाभ

यह एटलस भारतीय चुनावी विविधता की बेहतर समझ के लिए जानकारी प्रदान करता है और विभिन्न स्तरों पर चुनावी पैटर्न में अंतर्दृष्टि (insights) प्रदान करता है। यह एक उदाहरणात्मक और सूचनात्मक दस्तावेज के रूप में काम करेगा जो भारतीय चुनावी प्रक्रिया की बारीकियों को समझने में मदद करेगा और भारत में परिवर्तनों और रुझानों का विश्लेषण करने में मदद करेगा।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments