जम्मू-कश्मीर सरकार ने Village Defence Groups के लिए मंज़ूरी दी

जम्मू-कश्मीर की परिसीमन प्रक्रिया शुरू होने से पहले जम्मू और कश्मीर के गांवों के निवासियों को स्थानीय सुरक्षा के लिए नामांकित किया जाएगा। सरकार नेvillage defence groups (VDG) के गठन को मंजूरी दे दी है।

मुख्य बिंदु 

  • VDG इसलिए बनाए जाएंगे ताकि वे उन क्षेत्रों में खतरों का जवाब दे सकें जहां स्थानीय पुलिस की उपस्थिति कम है।
  • प्रत्येक VDG में समान रैंक और वेतन वाले 8 से 10 सदस्य होंगे।
  • 1 या 2 विशेष पुलिस अधिकारियों को VDG में शामिल करने की मौजूदा व्यवस्था को बंद कर दिया जाएगा।
  • VDG कश्मीर घाटी के कुछ हिस्सों में भी काम करेंगे।

क्या VDG एक नया कांसेप्ट है?

जम्मू और कश्मीर में VDG काफी समय से काम कर रहे हैं। परन्तु उन्हें काफी समय से पैसे न दिया जाने के कारण लोगों ने VDG को छोड़ दिया।

VDG से मिली खुफिया जानकारी की मदद से सुरक्षा बल बड़ी संख्या में आतंकियों का सफाया करने में सफल रहे हैं। 1990 के दशक में जब जम्मू-कश्मीर में हिंसा और आतंकवाद अपने चरम पर था, तब VDG ने दूरदराज के इलाकों में लोगों की मदद की और उन्हें आतंकवादी हमलों से बचाया।

VDG की मदद से सशस्त्र बल उस क्षेत्र में होने वाली सभी आतंकवादी गतिविधियों को खत्म करने की कोशिश करेंगे।

Categories:

Tags: , , , , ,

« »

Advertisement

Comments