जर्मनी ने दुनिया की पहली सेल्फ-ड्राइविंग ट्रेन लॉन्च की

जर्मन रेल ऑपरेटर डॉयचे बाहन और औद्योगिक समूह सीमेंस ने 11 अक्टूबर, 2021 को दुनिया की पहली स्वचालित और चालक रहित ट्रेन लांच की।

मुख्य बिंदु 

  • इस सेल्फ-ड्राइविंग ट्रेन को हैम्बर्ग शहर में लॉन्च किया गया था।
  • यह ट्रेन पारंपरिक ट्रेनों की तुलना में अधिक समय की पाबंद और ऊर्जा कुशल है।
  • जर्मनी ने उत्तरी शहर के एस-बान रैपिड अर्बन रेल नेटवर्क में ऐसी चार ट्रेनों को जोड़ने की योजना बनाई है।
  • ये ट्रेनें मौजूदा रेल बुनियादी ढांचे पर दिसंबर से यात्रियों को ले जाना शुरू कर देंगी।

दुनिया की पहली सेल्फ ड्राइविंग ट्रेन

इस परियोजना को ‘सीमेंस और डॉयच बाहन’ द्वारा विकसित किया जा रहा है। इसे ‘वर्ल्ड फर्स्ट’ करार दिया जा रहा है। यह परियोजना हैम्बर्ग की तीव्र शहरी रेल प्रणाली के 60 मिलियन यूरो के आधुनिकीकरण का हिस्सा है। ये स्वचालित ट्रेनें एक किलोमीटर का नया ट्रैक बिछाए बिना विश्वसनीय सेवा प्रदान करेंगी। ये ट्रेनें “30% अधिक यात्रियों” को ले जा सकती हैं। समयपालन में सुधार के अलावा, इन ट्रेनों से 30% से अधिक ऊर्जा की बचत होगी।

हालांकि इस ट्रेन को डिजिटल तकनीक से नियंत्रित किया जाता है और यह पूरी तरह से स्वचालित है। लेकिन एक ड्राइवर ट्रेन में सवार यात्रियों की यात्रा की निगरानी के लिए बैठेगा।

डॉयच बाहन (Deutsche Bahn)

यह एक जर्मन रेलवे कंपनी है, जिसका मुख्यालय बर्लिन में है। यह एक निजी संयुक्त स्टॉक कंपनी है। जर्मनी का संघीय गणराज्य कंपनी का एकमात्र शेयरधारक है। यह दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी ट्रांसपोर्ट कंपनी है। साल 2015 में डॉयचे बान राजस्व के हिसाब से दुनिया की सबसे बड़ी रेलवे कंपनी थी।

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments