जलवायु परिवर्तन पर भारत और जापान की साझेदारी : मुख्य बिंदु

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने जापान सरकार और जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) के साथ भागीदारी की है। उन्होंने भारत में 10 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में जलवायु कार्रवाई में तेजी लाने के लिए एक पहल शुरू की है।

मुख्य बिंदु 

  • यह पहल शुद्ध-शून्य उत्सर्जन प्राप्त करने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित योगदान (Nationally Determined Contribution – NDCs) को समर्थन प्रदान करेगी। यह पहल जलवायु-लचीला विकास भी सुनिश्चित करेगी।
  • पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय और नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (MNRE) में IMD के सहयोग से यह पहल शुरू की जाएगी।
  • इसके लॉन्च के बाद भारत के अपडेटेड राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित योगदान (NDC) को कैबिनेट की मंजूरी दी गई है, जिसे जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क कन्वेंशन को भेजा जाएगा।
  • वे स्वास्थ्य, यातायात, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (MSMEs),और कृषि जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में स्वच्छ ऊर्जा बुनियादी ढांचे और कम उत्सर्जन प्रौद्योगिकियों को रखकर जलवायु शमन को बढ़ावा देंगे।

यह पहल 30 ग्राम पंचायतों में जलवायु सूचना प्रवाह प्रणालियों के माध्यम से जमीनी स्तर पर लचीला जलवायु नियोजन को भी प्रकट करेगी। इसका उद्देश्य 2000 से अधिक लोगों को कौशल और प्रशिक्षण प्रदान करके अक्षय ऊर्जा जैसे क्षेत्रों में हरित नौकरियों और हरित उद्यमिता को बढ़ावा देना है। इस परियोजना के लिए जापान ने UNDP इंडिया को 5.16 मिलियन अमरीकी डालर का जलवायु अनुदान प्रदान किया है।

Categories:

Tags: , , , , ,

« »

Advertisement

Comments