जल जीवन मिशन के लिए जल शक्ति मंत्रालय और संयुक्त राष्ट्र ने साझेदारी की

जल शक्ति मंत्रालय ने उत्तर प्रदेश में बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्रों के 11 जल संकट वाले जिलों में नल से पानी के कनेक्शन लाने के लिए 22 मार्च, 2021 को United Nations Office for Project Services (UNOPS)  और डेनमार्क सरकार के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

मुख्य बिंदु

इस परियोजना में क्षमता निर्माण, ग्राम कार्य योजनाओं का निर्माण, जमीनी स्तर पर जल की गुणवत्ता की निगरानी के तरीके इत्यादि शामिल होंगे। इन सभी समर्थनों को UNOPS द्वारा सुगम बनाया जाएगा। इस परियोजना ने वर्ष 2021 के लिए एक मिलियन डॉलर का बजट निर्धारित किया है। हालांकि, इस परियोजना को वर्ष 2022 में बढ़ाया जाएगा।

जल जीवन मिशन (Jal Jeevan Mission)

यह मिशन 15 अगस्त, 2019 को शुरू किया गया था। इसे व्यक्तिगत घरेलू नल कनेक्शन द्वारा सुरक्षित और पर्याप्त पेयजल उपलब्ध कराने के लिए कल्पना की गई है। यह 2024 तक भारत के सभी ग्रामीण घरों में नल का जल कनेक्शन प्रदान करने का प्रयास करेगा। यह कार्यक्रम ग्रे वाटर मैनेजमेंट, वर्षा जल संचयन और जल संरक्षण के माध्यम से पुनर्भरण और पुन: उपयोग जैसे स्रोत स्थिरता उपायों को अनिवार्य तत्वों के रूप में लागू करता है। यह मिशन पानी के सामुदायिक दृष्टिकोण पर आधारित है।

मिशन के उद्देश्य

जल जीवन मिशन निम्नलिखित उद्देश्यों के साथ शुरू किया गया था:

  1. प्रत्येक ग्रामीण परिवार को कार्यात्मक घरेलू नल कनेक्शन (Functional Household Tap Connection – FHTC) प्रदान करना।
  2. गुणवत्ता प्रभावित क्षेत्रों, सूखा प्रभावित गाँवों और रेगिस्तानी क्षेत्रों आदि में FHTC के प्रावधान को प्राथमिकता देना।
  3. आंगनवाड़ी केंद्रों, स्कूलों, स्वास्थ्य केंद्रों, ग्राम पंचायत भवनों, कल्याण केंद्रों और सामुदायिक भवनों में कार्यात्मक नल कनेक्शन प्रदान करना।
  4. नल के पानी के कनेक्शन की कार्यक्षमता की निगरानी करना।

Categories:

Tags: , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments