जापान ने रक्षा बजट में भारी वृद्धि की, जापान बनाएगा अपना एडवांस्ड स्टेल्थ फाइटर जेट

जापान सरकार ने अगले वित्त वर्ष के लिए 5.34 ट्रिलियन येन ($51.7 बिलियन) के रक्षा बजट को मंजूरी दे दी है। गौरतलब है कि जापान ने लगातार नौवीं बार अपने रक्षा बजट में वृद्धि की है। पिछले वर्ष के मुकाबले जापान ने रक्षा बजट में 1.1% की वृद्धि की है। चीन के साथ द्वीपों पर विवाद होने के कारण जापान के लिए रक्षा बजट में वृद्धि करना आवश्यक है, जापान की चिंता का एक अन्य कारण उत्तरी कोरिया भी है।

मुख्य बिंन्दु

इस नए बजट की सहायता से जापान लम्बी दूरी की एंटी-शिप मिसाइलों का निर्माण करेगा जो चीन का मुकाबले करने के लिए बेहद ज़रूरी है। जापान चीन और उत्तरी कोरिया में लक्ष्यों को नष्ट करने के लिए अपनी सेना को प्रशिक्षित करेगा और इसके अलावा यह लम्बी दूरी की मिसाइलें भी खरीदेगा।

इसके अलावा जापान एक एडवांस्ड स्टेल्थ लड़ाकू विमान बनाने की योजना भी बना रहा है। कहा जा रहा है कि जापान का यह लड़ाकू विमान 2030 तक तैयार हो जायेगा, इसमें 40 अरब डॉलर का खर्च आने की उम्मीद है। इस प्रोजेक्ट का कार्य मित्सुबिशी हेवी इंडस्ट्रीज द्वारा किया जायेगा।

अपनी मौजूदा ज़रूरतों को पूरा करने के लिए जापान अमेरिका ने अत्याधुनिक स्टेल्थ लड़ाकू विमान F-35 खरीदने जा रहा है। जापान अमेरिका ने 628 मिलियन डॉलर की लागत से 6 F-35 लड़ाकू विमान खरीदेगा।

चूंकि जापान और चीन के बीच समुद्री क्षेत्र को लेकर विवाद है, इसलिए जापान ने लम्बी दूरी की एंटी-शिप मिसाइल के विकास पर $323 मिलियन खर्च करने का फैसला किया है। इसके अलावा जापान दो कॉम्पैक्ट युद्धपोतों के निर्माण के लिए $ 912 मिलियन डॉलर खर्च करेगा।

गौरतलब है कि चीन ने अगले वित्त वर्ष के लिए अपने सैन्य बजट को 6.6% बढ़ाने की योजना बनाई है। यह पिछले तीन दशकों में चीन के सैन्य बजट में सबसे कम वृद्धि है।

Categories:

Tags: , , , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments