जीएसटी कलेक्शन लगातार दूसरे महीने 1 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंचा 

वित्त मंत्रालय के अनुसार वस्तु व सेवा कर (जीएसटी) से लगातार दूसरे महीने एक लाख करोड़ रुपये से अधिक का राजस्व प्राप्त हुआ है। नवंबर में 1,04,963 करोड़ रुपये का जीएसटी कलेक्शन हुआ था, इसमें पिछले वर्ष की तुलना में 1.4% वृद्धि उई थी। इससे ज़ाहिर होता है कि देश में आर्थिक गतिविधियाँ सामान्य होने की दिशा में अग्रसर हैं।

मुख्य बिंदु

कुल एकत्रित जीएसटी राजस्व में से, CGST 19,189 करोड़ रुपये, SGST 25,540 करोड़ रुपये, IGST 51,992 करोड़ रुपये है, जबकि उपकर 8,242 करोड़ रुपये है।

वित्त मंत्रालय के अनुसार नवंबर महीने के लिए फाइल किये गये जीएसटीआर-3 बी रिटर्न की कुल संख्या 82 लाख है।  नवंबर के महीने में जीएसटी राजस्व में पिछले साल के इसी महीने के मुकाबले 1.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

वस्तु व सेवा कर परिषद्

वस्तु व सेवा कर परिषद् देश में GST कर निर्धारण से सम्बंधित प्रमुख नीति-निर्माता संगठन है। यह परिषद् GST कर दर, कर छूट, कर नियम तथा कर डेडलाइन इत्यादि का निर्धारण करती है। यह एक संवैधानिक संस्था है। इसकी अध्यक्षता केन्द्रीय वित्त मंत्री द्वारा की जाती है। इसके सदस्य केन्द्रीय राज्य राजस्व व वित्त मंत्री तथा राज्यों के वित्त मंत्री होते हैं।

इस परिषद् के निर्णय न्यूनतम तीन चौथाई बहुमत के पश्चात् लिए जाते हैं। इसमें केंद्र सरकार के वोट का भार कुल वोट का एक चौथाई होता है, जबकि राज्यों के वोट का भार दो चौथाई होता है।

 

 

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments