टाइग्रे ((Tigray) पर अकाल का खतरा : संयुक्त राष्ट्र की चेतावनी

संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी दी है, “यदि तत्काल सहायता प्रदान नहीं की गई तो टाइग्रे क्षेत्र में अकाल का खतरा है”। संयुक्त राष्ट्र के अधिकारियों के अनुसार, इथियोपिया के टाइग्रे क्षेत्र में अकाल से बचने के उपाय किए जाने की आवश्यकता है।

मुख्य बिंदु

इथियोपिया के प्रधानमंत्री अबी अहमद (Abiy Ahmed) ने नवंबर 2020 में टाइग्रे में जमीनी और हवाई सैन्य अभियान का आदेश दिया था। उत्तरी क्षेत्र की तत्कालीन सत्ताधारी पार्टी टाइग्रे पीपल्स लिबरेशन फ्रंट (Tigray People’s Liberation Front – TPLF) पर संघीय सेना के शिविरों पर हमला करने का आरोप लगाने के बाद यह अभियान शुरू किया गया था। यह ऑपरेशन अभी सातवें महीने में है। इस संघर्ष में लगभग हजारों लोग मारे गए हैं और लगभग 50 लाख लोगों को सहायता की आवश्यकता है।

टाइग्रे  में वर्तमान स्थिति

इस युद्धग्रस्त क्षेत्र में लगभग 20 प्रतिशत आबादी आपातकालीन खाद्य असुरक्षा का सामना कर रही है। नागरिकों के खिलाफ विनाश और हिंसा अभी भी जारी है। करीब सात महीने में करीब 20 लाख लोग विस्थापित हुए हैं। नागरिक मारे जा रहे हैं और घायल हो रहे हैं। अस्पतालों और कृषि भूमि जैसे सार्वजनिक और निजी बुनियादी ढांचे को नष्ट कर दिया गया है। जिसके परिणामस्वरूप, 90 प्रतिशत फसल नष्ट हो गई और 80 प्रतिशत पशुधन लूट लिया गया या उनका वध कर दिया गया।

टाइग्रे पीपल्स लिबरेशन फ्रंट (Tigray People’s Liberation Front)

यह मिलिशिया से बदलकर एक पार्टी बनी है। यह पार्टी गठबंधन का हिस्सा थी जिसने 1991 में सैन्य तानाशाही का अंत किया था।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments