तंबाकू के उपयोग के प्रचलन में रुझान पर WHO ग्लोबल रिपोर्ट 2000-2025 : मुख्य बिंदु

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने 2000-2025 में तंबाकू के उपयोग के प्रचलन में रुझानों पर वैश्विक रिपोर्ट का चौथा संस्करण प्रकाशित किया

मुख्य बिंदु 

  • इस रिपोर्ट के अनुसार, दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र ने तंबाकू के उपयोग में गिरावट की सबसे तेज दर हासिल की। पुरुषों में धूम्रपान का औसत प्रसार 2020 में घटकर 25% हो गया, जबकि 2000 में यह 50% था।
  • दक्षिण-पूर्वी क्षेत्र में, महिलाओं में तम्बाकू धूम्रपान 2000 में 8.9% से घटकर वर्ष 2020 में 1.6% हो गया।
  • भारत और नेपाल ऐसे देश हैं, जो 2025 तक वैश्विक एनसीडी कार्य लक्ष्य योजना को पूरा करने के लिए तंबाकू के उपयोग में 30% सापेक्ष कमी हासिल करने की संभावना रखते हैं।
  • WHO की रिपोर्ट पर प्रकाश डाला गया है कि, यदि तंबाकू नियंत्रण के प्रयास मौजूदा स्तर के साथ जारी रहे, तो इस क्षेत्र में धूम्रपान की दर 2025 में 11% तक पहुंच सकती है। यह अफ्रीका के बाद दूसरी सबसे कम क्षेत्रीय औसत दर होगी, जो कि 2025 में 7.5% है।
  • दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र में तंबाकू के उपयोग की दर सबसे अधिक है, जो कि जनसंख्या का 29% है। इसके 432 मिलियन उपयोगकर्ता हैं।

यह प्रगति कैसे संभव हुई?

  • यह प्रगति WHO के FCTC और MPOWER पैकेज के प्रभावी कार्यान्वयन के साथ-साथ तंबाकू की मांग और आपूर्ति को कम करने में देशों की मदद करने के लिए छह लागत प्रभावी और उच्च प्रभाव उपायों के एक सेट का परिणाम है।
  • तंबाकू का उपयोग गैर संचारी रोगों (noncommunicable diseases ) के प्रमुख जोखिम कारकों में से एक है और एनसीडी को रोकने और नियंत्रित करने के लिए प्रभावी तंबाकू नियंत्रण महत्वपूर्ण है। यह 2014 से इस क्षेत्र की प्रमुख प्राथमिकता है।

Categories:

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments

  • Shankarlal maida
    Reply

    Nice

  • Khushboo yadav
    Reply

    Usefull. Thank you

  • Milkikumari
    Reply

    Useful

  • Shakeel ahmad khan
    Reply

    Usefull

  • Juvan singh dawar
    Reply

    Jitene bhi tv pe vijyspan dhumrapan se relete hai unko band kije or dhumrapan nished ka vigyapan jari rkhe apna desh dhumrapan mukta ho jayega