तुर्की ने अपना आधिकारिक नाम बदलकर तुर्किये (Türkiye) किया

संयुक्त राष्ट्र में, तुर्की को अब तुर्किये (Türkiye) के नाम से जाना जाएगा। संयुक्त राष्ट्र को मई 2022 में अंकारा से एक अनुरोध प्राप्त हुआ था।

नाम को रीब्रांड करने की प्रक्रिया

नाम को रीब्रांड करने की प्रक्रिया वर्ष 2021 में शुरू हुई थी। इस नाम को तुर्किये के रूप में चुना गया था जो तुर्की राष्ट्र की संस्कृति, सभ्यता और मूल्यों को बेहतरीन तरीके से दर्शाता है और व्यक्त करता है। स्थानीय लोग अपने देश को तुर्किये के रूप में संदर्भित करते हैं, लेकिन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर, इसके अंग्रेजी संस्करण “टर्की” को अपनाया गया था।

नाम बदलने का कारण

राज्य प्रसारक TRT की एक रिपोर्ट के अनुसार, 1923 में देश की आजादी के बाद ‘तुर्की/टर्की’ शब्द को अपनाया गया था। अतीत में, यूरोपीय लोगों ने ओटोमन राज्य और तुर्किये को कई नामों से संदर्भित किया है। लेकिन जो नाम सबसे ज्यादा अटका है वह है “टर्की”। इस प्रकार, ‘टर्की’ शब्द के लिए Google खोज परिणामों से देश की सरकार खुश नहीं थी। कुछ परिणामों में एक बड़ा पक्षी शामिल था जिसे क्रिसमस भोजन और उत्तरी अमेरिका में थैंक्सगिविंग के लिए परोसा जाता है। इसके अलावा, सरकार ने कैम्ब्रिज डिक्शनरी की “टर्की” की परिभाषा पर भी आपत्ति जताई, जिसका अर्थ है “एक बेवकूफ मूर्ख व्यक्ति” या “ऐसा कुछ जो बुरी तरह से विफल हो जाता है”।

रीब्रांडिंग अभियान

तुर्की की सरकार ने फिर से ब्रांडिंग अभियान शुरू कर दिया है। यह सभी निर्यात किए गए उत्पादों पर “मेड इन तुर्किये” प्रदर्शित करना शुरू कर देगा। सरकार  ने टैग लाइन के रूप में “हैलो तुर्किये” के साथ एक पर्यटन अभियान भी शुरू किया।

किन देशों ने अपने नाम बदले हैं?

कुछ और देशों ने पहले अपने नाम बदले हैं। उदाहरण के लिए :

  • हॉलैंड का नाम नीदरलैंड किया गया
  • ग्रीस के साथ राजनीतिक विवादों के कारण मैसेडोनिया ने अपना नाम उत्तरी मैसेडोनिया में बदल दिया
  • 1935 में पर्शिया का नाम बदलकर ईरान किया गया
  • सियाम ने अपना नाम बदलकर थाईलैंड कर लिया
  • रोडेशिया ने अपना नाम बदलकर जिम्बाब्वे कर लिया।

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments