दिसंबर 2020 में जीएसटी संग्रह ने 1.15 लाख करोड़ रुपये का उच्चतम आंकड़ा छुआ

दिसम्बर 2020 के महीने में जीएसटी राजस्व संग्रह ने नया कीर्तिमान बनाया। दरअसल, देश में वस्तु और सेवा कर को लागू करने के बाद जीएसटी राजस्व संग्रह का सबसे अधिक आंकड़ा दर्ज किया गया है।

मुख्य बिंदु

दिसंबर 2020 में एकत्रित सकल जीएसटी राजस्व 1,15,174 करोड़ रुपये है। पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि के मुकाबले इस वर्ष का जीएसटी 12% अधिक है। दिसंबर 2020 का राजस्व नवंबर के राजस्व से काफी अधिक है जो 1,04,963 करोड़ रुपये था। वित्त मंत्रालय के अनुसार यह पिछले 21 महीनों में  मासिक राजस्व में सबसे अधिक वृद्धि है। पिछले कुछ समय में अर्थव्यवस्था में काफी  अच्छी रिकवरी देखी गयी है।

वस्तु व सेवा कर परिषद्

वस्तु व सेवा कर परिषद् देश में GST कर निर्धारण से सम्बंधित प्रमुख नीति-निर्माता संगठन है। यह परिषद् GST कर दर, कर छूट, कर नियम तथा कर डेडलाइन इत्यादि का निर्धारण करती है। यह एक संवैधानिक संस्था है। इसकी अध्यक्षता केन्द्रीय वित्त मंत्री द्वारा की जाती है। इसके सदस्य केन्द्रीय राज्य राजस्व व वित्त मंत्री तथा राज्यों के वित्त मंत्री होते हैं।

इस परिषद् के निर्णय न्यूनतम तीन चौथाई बहुमत के पश्चात् लिए जाते हैं। इसमें केंद्र सरकार के वोट का भार कुल वोट का एक चौथाई होता है, जबकि राज्यों के वोट का भार दो चौथाई होता है।

Categories:

Tags: , , , , ,

« »

Advertisement

Comments