न्यूजीलैंड ने विशेष APEC बैठक की अध्यक्षता की

न्यूजीलैंड ने “एशिया-प्रशांत आर्थिक सहयोग (APEC)” नामक एशिया-प्रशांत व्यापार समूह की विशेष वर्चुअल बैठक की अध्यक्षता की।

मुख्य बिंदु 

  • इस बैठक के दौरान विश्व के नेताओं ने इस बात पर प्रकाश डाला कि, व्यापक COVID-19 टीकाकरण एक वैश्विक सार्वजनिक आवश्यकता है और स्वास्थ्य आपातकाल को दूर करने के लिए टीकों तक पहुंच में तेजी लाना आवश्यक है।
  • APEC समूह के नेताओं ने वैक्सीन निर्माण और आपूर्ति के विस्तार के प्रयासों को दोगुना करने का संकल्प लिया।

एशिया-प्रशांत आर्थिक सहयोग (Asia-Pacific Economic Cooperation – APEC)

APEC एक ऐसा मंच है जिसमें 21 एशिया-प्रशांत अर्थव्यवस्थाएं शामिल हैं। वस्तुओं और सेवाओं में ऑस्ट्रेलिया के कुल व्यापार में सदस्यों की हिस्सेदारी 70% से अधिक है। APEC की स्थापना 1989 में ऑस्ट्रेलिया द्वारा की गई थी। यह समृद्ध क्षेत्रीय अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहित करने के लिए स्थापित किया गया था ।

 सदस्य 

भारत APEC का सदस्य नहीं है। इसके सदस्य देशों में शामिल हैं- ऑस्ट्रेलिया, ब्रुनेई, चिली, चीन, कनाडा, हांगकांग, इंडोनेशिया, जापान, मलेशिया, दक्षिण कोरिया, मैक्सिको, पेरू, न्यूजीलैंड, पापुआ न्यू गिनी, रूस, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड, चीनी ताइपे, वियतनाम औरअमेरिका।

भारत APEC का सदस्य क्यों नहीं है?

भारत ने APEC में सदस्यता के लिए अनुरोध किया था जिसे ऑस्ट्रेलिया,अमेरिका, जापान और पापुआ न्यू गिनी से प्रारंभिक समर्थन प्राप्त हुआ था। लेकिन अधिकारियों ने भारत को अनुमति नहीं देने का फैसला किया क्योंकि इसकी प्रशांत महासागर के साथ सीमा नहीं है। नवंबर 2011 में, भारत को पहली बार पर्यवेक्षक बनने के लिए आमंत्रित किया गया था।

Categories:

Tags: , , , , ,

« »

Advertisement

Comments