पर्यावरण मंत्री ने पहला कार्यात्मक स्मॉग टॉवर लॉन्च किया

केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेंद्र यादव ने 7 सितंबर, 2021 को भारत के पहले कार्यात्मक स्मॉग टॉवर का वर्चुअली उद्घाटन किया।

मुख्य बिंदु

  • दिल्ली के आनंद विहार में स्मॉग टॉवर लॉन्च किया गया।
  • अब, मंत्रालय यह निर्धारित करने के लिए परिणामों पर कड़ी नजर रखेगा कि क्या भारत को भविष्य में ऐसी और परियोजनाओं की आवश्यकता है।

स्मॉग टॉवर क्या है?

स्मॉग टॉवर एक संरचना है जिसे बड़े या मध्यम स्तर के वायु शोधक (air purifier) के रूप में डिज़ाइन किया गया है। यह फिल्टर के माध्यम से वायु प्रदूषण को कम करने में मदद करता है।

आनंद विहार स्मॉग टॉवर की विशेषताएं

आनंद विहार स्थित स्मॉग टॉवर की ऊंचाई 20 मीटर से अधिक है। यह डॉवंड्राफ्ट टाइप का है जिसमें टावर के ऊपर से प्रदूषित हवा अंदर आएगी और नीचे से साफ हवा निकलेगी। यह फ़िल्टर स्थानीयकृत पार्टिकुलेट मैटर को कम करने के लिए लगाया गया है।

फिल्ट्रेशन सिस्टम

स्मॉग टॉवर में इस्तेमाल होने वाले फिल्ट्रेशन सिस्टम को यूनिवर्सिटी ऑफ मिनेसोटा द्वारा डिजाइन किया गया है। इसकी अपेक्षित दक्षता 90% है।

इस स्मॉग टॉवर का निर्माण टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड ने एनबीसीसी (इंडिया) लिमिटेड के सहयोग से परियोजना प्रबंधन सलाहकार के रूप में किया है।

स्वच्छ हवा की दिशा में भारत द्वारा उठाए गए कदम

मंत्रालय ने  स्वच्छ हवा प्राप्त करने के लिए अपनी गतिविधियों को तेज कर दिया है। वित्तीय वर्ष 2019-20 और 2020-21 में 114 शहरों को कार्य योजना के लिए 375.44 करोड़ रुपये जारी किए गए हैं। 15वें वित्त आयोग की रिपोर्ट के अनुसार 2020-21 के लिए मिलियन से अधिक आबादी वाले 42 शहरों के लिए 4,400 करोड़ रुपये जारी किए गए हैं ।

Categories:

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments