पीएम मोदी ने कोविड के कारण अनाथ हुए बच्चों के लिए सहायता की घोषणा की

अपनी सरकार की दूसरी वर्षगांठ के मौके पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कोविड के कारण अनाथ हुए बच्चों के लिए कल्याणकारी उपायों की घोषणा की।

मुख्य बिंदु

कोविड के कारण अनाथ हुए बच्चों के नाम पर फिक्स्ड डिपाजिट खोला जायेगा, और PM-CARES इसमें योगदान होगा और जब बच्चे 18 साल के हो जायेंगे तो इसमें 10 लाख रुपये का कार्पस हो जायेगा। इस धनराशी का उपयोग मासिक आर्थिक सहायता या उच्च शिक्षा के लिए किया जा सकता है। 23 वर्ष की उम्र में पहुँचने पर वे बच्चे व्यक्तिगत या व्यवसायिक उपयोग के लिए एकमुश्त सारी धनराशी प्राप्त कर सकते हैं।

इसके अलावा, 10 साल से कम उम्र के बच्चों को नजदीकी केन्द्रीय  विद्यालय में प्रवेश दिया जायेगा। 11 से 18 साल के बच्चों को केंद्र सरकार के किसी भी आवासीय स्कूल (जैसे सैनिक स्कूल या नवोदय विद्यालय) में प्रवेश दिया जा सकता है।

यदि बच्चे को निजी स्कूल में एडमिट किया जा सकता है, जो उसके फीस PM-CARES फण्ड से शिक्षा के अधिकार के तहत दी जाएगी। इसके अलावा, उस बच्चे की वर्दी, किताबों व नोटबुक का खर्चा भी दिया जायेगा।

इन बच्चों को प्रोफेशनल कोर्स में उच्च शिक्षा हासिल करने के लिए शिक्षा ऋण प्राप्त करने में सहायता की जाएगी और उनके ऋण के ब्याज का भुगतान PM-CARES फण्ड से किया जायेगा।

जो छात्र किसी मौजूदा छात्रवृत्ति के लिए योग्य नहीं हैं, उन्हें एक समान प्रकार की छात्रवृत्ति दी जाएगी।

इन बच्चों को आयुष्मान भारत या प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत शामिल किया जायेगा, जिसमे 5 लाख का बीमा कवर शामिल है। इन बच्चों का प्रीमियम PM-CARES फण्ड से दिया जायेगा।

Categories:

Tags: , , , , ,

« »

Advertisement

Comments