पीएम मोदी ने चौथे वैश्विक आयुर्वेद महोत्सव को संबोधित किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 12 मार्च, 2021 को वर्चुअल मोड में चौथे वैश्विक आयुर्वेद महोत्सव को संबोधित किया।

मुख्य बिंदु

इस अवसर पर, प्रधानमंत्री ने आयुर्वेद में बढ़ती वैश्विक रुचि पर प्रकाश डाला। उन्होंने दुनिया भर में आयुर्वेद पर काम करने वालों के प्रयासों की भी सराहना की। एक समग्र मानव विज्ञान के रूप में आयुर्वेद के महत्व प्रकाश डालते हुए उन्होंने इस बात पर प्रकाश डाला कि कैसे कोविड-19 महामारी के बीच आयुर्वेदिक उत्पादों की मांग लगातार बढ़ रही है। उन्होंने कहा, महामारी की यह वर्तमान स्थिति आयुर्वेद और पारंपरिक दवाओं के लिए दुनिया भर में अधिक लोकप्रिय होने का एक सही समय है। उन्होंने आयुर्वेद की लोकप्रियता और अवसरों का लाभ उठाने का भी आह्वान किया।

चौथा वैश्विक आयुर्वेद महोत्सव

इस इवेंट में लाइव सत्र जैसे प्लेनरी, समांतर सत्र, संगोष्ठी, आभासी प्रदर्शनी और वर्चुअल नेटवर्किंग शामिल होंगे। यह आयोजन आयुर्वेद के क्षेत्र से संगठनों, संस्थानों, व्यक्तियों और सांविधिक निकायों के लिए एक साथ मिलने, साझा करने, जानने और बढ़ने के लिए प्लेटफार्म प्रदान कर रहा है।

थीम

इस आयोजन के तहत, अंतर्राष्ट्रीय आयुर्वेद संगोष्ठी का आयोजन “Strengthening Host Defence System – Ayurveda A Potential Promise” थीम के तहत किया जा रहा है। इंटरनेशनल डेलिगेट असेंबली का आयोजन “Globalizing Ayurveda – Scope, Challenges and Solutions” थीम के तहत किया जाएगा।

Categories:

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments