पीएम मोदी ने जलवायु अनुकूलन शिखर सम्मेलन 2021 (Climate Adaptation Summit 2021) को संबोधित किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जलवायु अनुकूलन शिखर सम्मेलन 2021 (Climate Adaptation Summit 2021) को संबोधित करते हुए कहा कि वर्ष 2030 तक, भारत 450 गीगावाट नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता के लक्ष्य को हासिल करने का प्रयास करेगा। उन्होंने यह भी कहा कि भारत एलईडी रोशनी को बढ़ावा दे रहा है और प्रति वर्ष 38 मिलियन टन कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन को कम रहा है। उन्होंने इस बात पर भी प्रकाश डाला कि 2030 तक भारत 26 मिलियन हेक्टेयर ख़राब भूमि को बहाल कर देगा।

जलवायु अनुकूलन शिखर सम्मेलन 2021

  • 25 जनवरी 2021 को नीदरलैंड सरकार द्वारा जलवायु अनुकूलन शिखर सम्मेलन आयोजित किया गया था। यह शिखर सम्मेलन ऑनलाइन आयोजित किया गया था और इसे “CAS Online” भी कहा जा रहा है।
  • इस शिखर सम्मेलन ने UNFCCC के COP26 के माध्यम से गति को बनाए रखने और जलवायु आपातकाल के अग्रणी समाधान का प्रदर्शन किया।
  • इस शिखर सम्मेलन के आयोजकों ने कृषि अनुसंधान के लिए नई फंडिंग का भी आह्वान किया।

जलवायु अनुकूलन शिखर सम्मेलन का उद्देश्य

  • शिखर सम्मेलन को उन बदलावों को साकार करने के उद्देश्य से आयोजित किया गया था जो जलवायु-लचीली दुनिया के लिए आवश्यक हैं।
  • यह शिखर सम्मेलन नए निवेश हासिल करने पर केंद्रित है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि लाखों छोटे किसान खाद्य उत्पादन पर जलवायु के प्रभाव के अनुकूलन को अपना सकें।

भारत की प्रतिबद्धता

भारत ने इस शिखर सम्मेलन के दौरान 80 मिलियन ग्रामीण परिवारों को खाना पकाने का स्वच्छ ईंधन प्रदान करने के लिए प्रतिबद्धता व्यक्त की है। इसने 64 मिलियन घरों को पाइप के द्वारा जल आपूर्ति से जोड़ने के लिए भी प्रतिबद्धता ज़ाहिर की है।

COP 26

2021 संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन को COP26 के रूप में भी जाना जाता है। यह 26वां संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन है। यह 1 से 12 नवंबर, 2021 तक स्कॉटलैंड के ग्लासगो में आयोजित किया जाएगा। यूनाइटेड किंगडम इस शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता करेगा।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments