प्रधानमंत्री मोदी ने भारत-पाक युद्ध की 50वीं वर्षगाँठ पर स्वर्णिम विजय मशाल प्रज्वलित की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 16 दिसंबर, 2020 को दिल्ली में राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर ‘स्वर्णिम विजय मशाल’ प्रज्वलित की। 1971 में पाकिस्तान पर भारत की जीत की 50वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में ‘स्वर्णिम विजय मशाल’ प्रज्वलित की गयी। इस दिन को विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है।

विजय दिवस

भारत में हर साल 16 दिसंबर को विजय दिवस मनाया जाता है। यह दिन पाकिस्तान पर भारत की जीत की याद में मनाया जाता  है। 1971 के युद्ध के दौरान पाकिस्तान पर भारत की जीत के कारण बांग्लादेश अस्तित्व में आया था।

विजय दिवस 2020

विजय दिवस के अवसर पर, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ‘स्वर्णिम विजय वर्ष’ के लिए लोगो का अनावरण किया। वर्ष 2020 में 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध की 50वीं वर्षगांठ है। इस अवसर पर पीएम मोदी, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और त्रि-सेवा प्रमुख ने भी सैनिकों को श्रद्धांजलि दी। राष्ट्रीय युद्ध स्मारक की शाश्वत लौ से चार विजय मशालें जलाई गईं। अब इन मशालों भारत के विभिन्न हिस्सों में ले जाया जाएगा।

इन मशालों को 1971 के युद्ध के परमवीर चक्र और महावीर चक्र पुरस्कार विजेताओं के गांवों तक भी ले जाया जाएगा।

1971 का भारत-पाक युद्ध

यह युद्ध पूर्वी पाकिस्तान में स्वतंत्रता संग्राम के दौरान हुआ था। यह युद्ध 3 दिसंबर, 1971 से 16 दिसंबर, 1971 तक हुआ। यह युद्ध 11 भारतीय हवाई स्टेशनों पर हवाई हमलों के साथ शुरू हुआ। युयह द्ध 13 दिनों तक चला और इस तरह यह इतिहास का सबसे छोटा युद्ध है। भारतीय और पाकिस्तानी सेनाओं के बीच प पूर्वी और पश्चिमी मोर्चों पर मुकाबला हुआ। इस युद्ध में पाकिस्तान की करारी हार हुई और युद्ध के अंत में 93000 पाकिस्तानी सैनिकों को भारत के सामने आत्म-समर्पण करना पड़ा।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments