प्रधानमंत्री मोदी रखेंगे नए संसद भवन की आधारशिला

10 दिसम्बर को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी भारत के नए संसद भवन की आधारशिला रखेंगे। इस नए संसद भवन का निर्माण 971 करोड़ रुपये की लागत से किया जाएगा। जब भारत 2022 में स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगाँठ मनायेगा तो उस समय राज्यसभा और लोकसभा की बैठकों का आयोजन इस नए संसद भवन में किया जाएगा।

मुख्य बिंदु

नया संसद भवन पिछले भवन की तुलना में अधिक सांसदों को समायोजित कर सकता है। इसमें 1400 लोगों के बैठने की व्यवस्था होगी। इस भवन का निर्माण प्रबलित सीमेंट कंक्रीट फ्रेम संरचना के साथ किया जायेगा। भारत सरकार इस परियोजना के तहत नए केंद्रीय सचिवालय के लिए शास्त्री भवन और कृषि भवन जैसी संरचनाओं को ध्वस्त करेगी।

इतिहास

दिसंबर 1911 में, किंग जॉर्ज पंचम ने भारत की राजधानी को कलकत्ता से दिल्ली स्थानांतरित करने की घोषणा की। यह घोषणा दिल्ली दरबार में की गई। यह दरबार ग्रैंड असेंबली है। दिल्ली दरबार में किंग जॉर्ज पंचम के राज्याभिषेक का आयोजन किया गया था।

राज्याभिषेक के बाद, किंग जॉर्ज पंचम ने नई राजधानी के निर्माण के लिए एडविन लुटियंस को नामित किया। वर्तमान संसद भवन और राष्ट्रपति भवन को एडविन लुटियंस द्वारा डिजाइन किया गया था। सचिवालय, जिसमें उत्तर और दक्षिण ब्लॉक शामिल हैं, को हर्बर्ट बेकर द्वारा डिजाइन किया गया था। सेंट्रल विस्टा में वर्तमान में संसद भवन, राष्ट्रपति भवन, उत्तर और दक्षिण ब्लॉक, इंडिया गेट और राष्ट्रीय अभिलेखागार हैं।

योजना क्या है?

उत्तर और दक्षिण ब्लॉक को संग्रहालयों में परिवर्तित किया जायेगा। राष्ट्रपति भवन क्षेत्र से रिज तक के क्षेत्र को जैवविविधता वाटिका में परिवर्तित किया जाएगा। यह भारत की जैविक विविधता को प्रदर्शित करेगा।

Categories:

Tags: , , , , ,

« »

Advertisement

Comments