फ्रैंक विल्जेक (Frank Wilczek) ने जीता 2022 टेंपलटन पुरस्कार (Templeton Prize)

2022 टेम्पलटन पुरस्कार एक सैद्धांतिक भौतिक विज्ञानी फ्रैंक विल्जेक को प्रदान किया गया। वह टेंपलटन पुरस्कार प्राप्त करने वाले छठे नोबेल पुरस्कार विजेता बन गए हैं।

फ्रैंक विल्जेक ने किस वर्ष नोबेल पुरस्कार जीता था?

वर्ष 2004 में, उन्होंने एच डेविड पोलित्ज़र और डेविड ग्रॉस के साथ भौतिकी में नोबेल पुरस्कार जीता। उन्होंने मजबूत अंतःक्रिया सिद्धांत में स्पर्शोन्मुख स्वतंत्रता (asymptotic freedom in the strong interaction theory) की खोज के लिए पुरस्कार जीता था।

विल्ज़ेक के कुछ महत्वपूर्ण प्रकाशन क्या हैं?

  • 2021- “Fundamentals: Ten Keys to Reality Fundamentals”
  • 2008- “The Lightness of Being”

टेंपलटन पुरस्कार (Templeton Prize)

यह एक ऐसे व्यक्ति को प्रतिवर्ष दिया जाने वाला पुरस्कार है जो जीवित है और जिसकी मेधावी उपलब्धियां सर जॉन टेम्पलटन की परोपकारी दृष्टि को आगे बढ़ाती हैं। उनका विज़न ब्रह्मांड और मानव जाति के बारे में गहनतम प्रश्नों को समझने के उद्देश्य से विज्ञान की शक्ति का दोहन करने पर केन्द्रित है।

टेंपलटन पुरस्कार की स्थापना कब हुई थी?

वर्ष 1972 में। यह पुरस्कार जॉन टेम्पलटन द्वारा स्थापित, प्रशासित और वित्त पोषित किया गया था। वर्तमान में, यह पुरस्कार जॉन टेम्पलटन फाउंडेशन, टेम्पलटन वर्ल्ड चैरिटी फाउंडेशन और टेम्पलटन धर्म ट्रस्ट द्वारा सह-वित्त पोषित है। यह पुरस्कार वर्तमान में जॉन टेम्पलटन फाउंडेशन द्वारा प्रशासित है। यह पुरस्कार मूल रूप से धर्म के क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को दिया जाता था लेकिन 1980 के दशक में धर्म और विज्ञान के चौराहे पर काम करने वाले लोगों को शामिल करने के लिए इस क्षेत्र का विस्तार किया गया था। टेंपलटन पुरस्कार की पहली प्राप्तकर्ता वर्ष 1973 में मदर टेरेसा थीं।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments