बेंगलुरु एअरपोर्ट बनेगा बोर्डिंग पास के लिए फेस रिकग्निशन टेक्नोलॉजी का उपयोग करने वाला एशिया का पहला एअरपोर्ट

बेंगलुरु का केम्पेगौड़ा अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा एशिया का पहला एअरपोर्ट होगा जहाँ पर बोर्डिंग पास के लिए फेस रिकग्निशन टेक्नोलॉजी (यात्री का चेहरा स्कैन करने वाली तकनीक) का उपयोग किया जायेगा। इसकी शुरुआत 2019 में होगी। इसके लिए बेंगलुरु अंतर्राष्ट्रीय एअरपोर्ट ने पुर्तगाली सॉफ्टवेर कंपनी ‘विज़न बॉक्स’ से समझौता किया है।

मुख्य बिंदु

फेस रिकग्निशन टेक्नोलॉजी के उपयोग से यात्री आटोमेटिक प्रक्रिया से उड़ान को बोर्ड कर सकते हैं। बोर्डिंग पास के लिए फेस रिकग्निशन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जायेगा। इस टेक्नोलॉजी की शुरुआत बेंगलुरु अंतर्राष्ट्रीय एअरपोर्ट में 2019 की पहली तिमाही में किया जायेगा। इसका उपयोग जेट एयरवेज, एयर एशिया और स्पाइसजेट एयरलाइन्स द्वारा किया जायेगा।

लाभ

फेस रिकग्निशन टेक्नोलॉजी के उपयोग से बोर्डिंग सिस्टम सरल व पेपरलेस हो जायेगा। एअरपोर्ट के विभिन्न सेक्शन में केवल यात्री से चेहरे को स्कैन करने से ही वेरिफिकेशन हो जायेगा। इसलिए एअरपोर्ट में विभिन्न सेक्शन में दस्तावेज प्रस्तुत करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। इससे यात्रियों को लम्बी कतारों में खड़ा नहीं रहना पड़ेगा।

महत्व : इस टेक्नोलॉजी के क्रियान्वयन के बाद यह विश्व का सबसे बड़ा एंड-टू-एंड रिकग्निशन बेस्ड वाक-थ्रू होगा। यह केंद्र सरकार के डिजिटल इंडिया अभियान में भी एक महत्वपूर्ण कदम सिद्ध होगा।

Tags: , , ,

Categories:

« »

Advertisement

Comments