बेंगलुरु मिशन 2022 क्या है?

हाल ही में कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने “बेंगलुरु मिशन 2022” लॉन्च किया। इस मिशन का उद्देश्य बेंगलुरु के लोगों को उनकी दिन-प्रतिदिन की समस्याओं और चुनौतियों का समाधान करने के लिए आवश्यक बुनियादी ढाँचा और बुनियादी सुविधाएँ उपलब्ध कराना है।

इसका मूल उद्देश्य शहर के बुनियादी ढांचे का कायाकल्प करना है। इसके तहत  देश की आजादी के 75वें वर्ष के अवसर पर बेंगलुरु को दुनिया के सर्वश्रेष्ठ शहरों में से एक बनाने के लिए कार्य करना है। हाल ही में सरकार ने “बेंगलुरु मिशन 2022 – रिवाइटलाइजिंग बेंगलुरु” नामक एक पुस्तिका भी साझा की।

बेंगलुरु मिशन 2022

  • यह मिशन ट्रैफिक भीड़-भाड़ को कम करने पर कार्य करेगा। पिछलेदो दशकों में, बेंगलुरु में ट्रैफिक की मात्रा चार गुना बढ़ गई है। बेंगलुरु में लगभग 5 लाख वाहन पंजीकृत हैं। यह मिशन सार्वजनिक परिवहन उपयोग, उप-नगरीय रेलवे परियोजना को प्रोत्साहित करेगा और “नम्मा मेट्रो” को भी गति दी जाएगी।
  • कर्नाटक सड़क विकास निगम 190 किलोमीटर के 12 उच्च घनत्व गलियारों का विकास करेगा।
  • सिंक्रोनस सिग्नल लाइट्स की स्थापना की जाएगी।
  • शेयर्ड इलेक्ट्रिक व्हीकल मोबिलिटी को बढ़ावा दिया जायेगा।
  • मेट्रो परियोजनाओं को पूरा करने के लिए काम की गति को बढ़ाया जायेगा।
  • यातायात को आसान बनाने और प्रदूषण को कम करने के लिए उप-नगरीय रेल को बढ़ावा दिया जायेगा।
  • हरियाली सुनिश्चित करने के लिए यह मिशन स्वच्छ झीलों और जलमार्ग बनाने को प्राथमिकता देगा।
  • 400 एकड़ के दो बड़े ट्री पार्क विकसित किए जायेंगे।
  • कडुगोड़ी, तुराहल्ली, जेपी नगर में मिनी वनों को विकसित किया जायेगा।
  • कर्नाटक सरकार “नन्ना कसा नान जवाबदारी” (मेरा कचरा मेरी ज़िम्मेदारी) थीम के तहत शहर के कूड़े कचरे को संस्थागत बनाया जायेगा।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments