बोको हराम क्या है?

हाल ही में नाइजीरिया के उत्तर पूर्वी क्षेत्र में श्रमिकों पर हमले में कम से कम 110 लोग मारे गए हैं। बोको हराम के आतंकियों को हत्या के लिए दोषी ठहराया गया है। इस घटना को 2020 में निर्दोष नागरिकों के खिलाफ सबसे हिंसक हमला माना जा रहा है। यह हमला नाइजीरिया में बोर्नो राज्य की राजधानी माइदुगुरी के पास हुआ।

मुख्य बिंदु

नाइजीरिया में बोको हराम आतंकवादी संगठन क्षेत्र में ग्रामीणों की हत्या करके नाइजीरिया के उत्तर पूर्वी क्षेत्र में अशांति पैदा कर रहा है। बोको हराम का उदय मुख्य रूप से लोगों की आर्थिक स्थिति में सुधार करने में नाइजीरियाई सरकार की विफलता के कारण हुआ है।

दक्षिणी क्षेत्र ब्रिटिश शासन के प्रभाव में था और उत्तरी क्षेत्र मुस्लिम शासन के अधीन था। उत्तर में मुस्लिम बहुमत रूढ़िवाद पर स्थिर रहा। जबकि दूसरी ओर, दक्षिणी क्षेत्र ने शैक्षणिक रूप से प्रगति की। उत्तरी क्षेत्र में शिक्षा का प्रसार अपेक्षाकृत कम है।  नाइजीरिया के दक्षिणी हिस्सों में तेल की खोज के बाद इस क्षेत्र के विकास को तेजी मिली। दक्षिण में तेल की खोज के बाद से नाइजीरिया के उत्तर पूर्वी हिस्सों को भेदभाव का सामना करना पड़ा। इन भेदभावों के कारण बोको हराम का उदय हुआ। बोको हरम का अर्थ है “पश्चिमी शिक्षा निषिद्ध है”।

बोको हराम

बोको हराम का गठन सलाफीवाद (Salafism) के सिद्धांतों के आधार पर किया गया था। सलाफ़ीवाद आंदोलन सुन्नी इस्लाम के भीतर विकसित हुआ था। यह आंदोलन पश्चिमी यूरोपीय साम्राज्यवाद के जवाब में शुरू किया गया था।

यूनिसेफ के अनुसार, बोको हराम ने 2013 से अब तक हजार से अधिक बच्चों का अपहरण किया है। 2014 में ही बोको हराम 6,644 से अधिक लोगों की हत्या के लिए जिम्मेदार था।

बोको हराम की स्थापना 2002 में मुहम्मद यूसुफ़ ने की थी। उसने एक धार्मिक केंद्र की स्थापना की, जिसने नाइजीरिया के गरीब मुस्लिम परिवारों और पड़ोसी देशों से भी लोगों को आकर्षित किया। इस केंद्र का मुख्य उद्देश्य एक इस्लामिक राज्य का निर्माण करना है।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments