ब्रिटेन और अमेरिका ने चीन के BRI का विकल्प ढूँढने का आवाहन किया

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाईडेन और ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने लोकतांत्रिक देशों को बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (Belt and Road Initiative – BRI) नामक चीन की बुनियादी ढांचे की रणनीति का विकल्प प्रदान करने के लिए कहा है।

मुख्य बिंदु

दोनों नेताओं ने फोन पर चर्चा की। उन्होंने COVID-19 और वैश्विक स्वास्थ्य सुरक्षा, चीन, ईरान, जलवायु परिवर्तन और उत्तरी आयरलैंड में राजनीतिक स्थिरता के संरक्षण सहित कई मुद्दों पर चर्चा की।

पृष्ठभूमि

अमेरिका और इसके क्वाड साझेदारों अर्थात् ऑस्ट्रेलिया, भारत और जापान ने मार्च 2020 के शुरुआती दिनों में, वैक्सीन की कमी को पूरा करने के लिए दक्षिण पूर्व एशिया और प्रशांत क्षेत्र में एक अरब टीके प्रदान करने के लिए लोकतांत्रिक देशों के बीच एक और पहल शुरू करने के लिए प्रतिबद्धता व्यक्त की थी। ट्रम्प प्रशासन ने 2019 में, “ब्लू डॉट नेटवर्क” (Blue Dot Network) नामक एक इन्फ्रास्ट्रक्चर योजना शुरू की थी, जो भारत के प्रशांत क्षेत्र में निजी क्षेत्र के नेतृत्व में बुनियादी ढाँचे के विकास को बढ़ावा देने के लिए थी।

बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (Belt and Road Initiative – BRI)

यह चीनी सरकार की एक वैश्विक बुनियादी ढांचा विकास रणनीति है। इसमें 2013 में अपनाया गया था। BRI चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (Chinese Communist Party – CCP) के महासचिव और शी जिनपिंग (Xi Jinping) की विदेश नीति का केंद्रबिंदु है। यह पहल मूल रूप से शी जिनपिंग द्वारा कजाकिस्तान की आधिकारिक यात्रा के दौरान सितंबर 2013 में “सिल्क रोड इकनोमिक बेल्ट” (Silk Road Economic Belt) के रूप में घोषित की गई थी।  इस बुनियादी ढांचा परियोजना में बंदरगाह, रेलमार्ग, सड़क, गगनचुंबी इमारतें, हवाई अड्डे, बांध और रेल सुरंग शामिल हैं।

Categories:

Tags: , , , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments