भारतीय कार्यस्थल समानता सूचकांक को लांच किया गया

हाल ही में भारत ने अपना कार्यस्थल समानता सूचकांक लॉन्च किया है, इसे “India Workplace Equality Index (IWEI)” नाम दिया गया है। इस सूचकांक को केशव सूरी ने लॉन्च किया है।

मुख्य बिंदु

केशव सूरी फाउंडेशन ने भारतीय कॉर्पोरेट जगत में IWEI को लॉन्च करने के लिए स्टोनवेल यूके, प्राइड सर्कल और फेडरेशन ऑफ इंडियन चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) के साथ मिलकर कार्य किया है। इसकी पहली रिपोर्ट में 65 कंपनियों के विविधता और समावेश डाटा को शामिल किया गया है। इस सूचकांक ने कंपनियों को 3 श्रेणियों में वर्गीकृत किया है : स्वर्ण श्रेणी, रजत श्रेणी और कांस्य श्रेणी।

सूचकांक का महत्व

  • यह सूचकांक उन नियोक्ताओं की पहचान करने में मदद करेगा जो LGBT + को शामिल करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।
  • यह सूचकांक उन नियोक्ताओं की भी पहचान करता है, जिन्होंने अपने संगठनों में एलजीबीटी + के अधिकारों को सफलतापूर्वक बरकरार रखा है।
  • यह सूचकांक आगे उन कंपनियों को मान्यता देता है, जिन्होंने अपनी नीतियों, भर्ती प्रथाओं, आंतरिक और बाहरी संचार में LGBT + को शामिल किया है।
  • यह नीतियों और लाभों, कर्मचारी नेटवर्क, कर्मचारी जीवनचक्र, वरिष्ठ नेतृत्व, खरीद, निगरानी, ​​सामुदायिक जुड़ाव और अन्य अतिरिक्त कार्यों के संबंध में संगठनों द्वारा किए गए प्रदर्शन का मूल्यांकन भी करेगा।

पृष्ठभूमि

भारत में यह सूचकांक धारा 377 निरस्त होने के दो साल बाद लॉन्च किया गया है। यह ब्रिटेन के स्टोनवेल WEI से प्रेरित है।

Categories:

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments