भारतीय कौशल संस्थान का पहला बैच लॉन्च किया गया

भारतीय कौशल संस्थान का पहला बैच वर्चुअली मुंबई में कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री द्वारा लॉन्च किया गया। यह कौशल संस्थान टाटा इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ स्किल्स और कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय (MSDE) की एक संयुक्त पहल है। इसके लिए समझौते पर नवंबर 2020 में हस्ताक्षर किए गए थे।

मुख्य बिंदु

टाटा-इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ स्किल्स में पहले बैच में प्रशिक्षण की शुरुआत फैक्ट्री ऑटोमेशन के साथ की जाएगी। इसके तहत प्रशिक्षुओं की योग्यता के अनुसार पाठ्यक्रमों की अवधि 1 से 4 सप्ताह होगी। शुरुआती लॉन्च चरण के दौरान पहले 100 छात्रों को आकर्षक शुल्क विकल्पों के साथ छात्रवृत्ति की पेशकश की जाएगी।

IIS मुंबई के कैंपस का निर्माण मुंबई के चेंबूर में किया जायेगा। यह कैंपस 4.5 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ है। यह संस्थान विभिन्न निजी संगठनों के साथ भागीदारी करेगा। फिलहाल, इस तरह की दो साझेदारियां की गई हैं। इसने जापान की एसएमसी कॉर्पोरेशन (दुनिया में वायवीय घटकों की सबसे बड़ी निर्माता) और जर्मनी की फेस्टो (औद्योगिक स्वचालन में अग्रणी) के साथ साझेदारी की है।

कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय (MSDE)

इसका वर्ष 2014 में किया गया था। यह देश में युवाओं के कौशल विकास और रोजगार क्षमता वृद्धि पर फोकस करता है। इस मंत्रालय का लक्ष्य नए कौशल और नवाचार के निर्माण के लिए कुशल मानव संसाधनों की आपूर्ति और मांग के बीच अंतर को कम करना है। अब तक, 3 करोड़ से अधिक लोगों को ‘स्किल इंडिया’ के तहत प्रशिक्षित किया गया है। इसके अलावा, मंत्रालय की प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत लगभग 1 करोड़ उम्मीदवारों को प्रशिक्षित किया जा चुका है।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments