भारतीय सेना को एंटी टैंक गाइडेड मिसाइलों की आपूर्ति करेगा BDL

रक्षा मंत्रालय ने भारत डायनेमिक्स लिमिटेड (BDL) के साथ 1,188 करोड़ रुपये के सौदे पर हस्ताक्षर किए हैं। इस सौदे के बाद, BDL भारतीय सेना के लिए 4,960 मिलान-2 टी एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल (Milan-2T Anti-Tank Guided Missile – ATGM) की आपूर्ति करेगा। रक्षा मंत्रालय ने इन मिसाइलों के लिए मार्च 2016 में BDL के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किए थे।

मिलान-2 टी एटीजीएम (Milan-2T ATGM)

यह एक टैंडेम वारहेड एटीजीएम है जिसकी रेंज 1,850 मीटर है। इन मिसाइलों का उत्पादन BDL द्वारा फ्रांस के  MBDA मिसाइल सिस्टम (MBDA Missile Systems) से लाइसेंस के तहत किया गया है। इस वॉरहेड में एक फॉरवर्ड चार्ज और एक रियर चार्ज शामिल होता है जिसे ब्लास्ट शील्ड द्वारा अलग किया जाता है। इन मिसाइलों को तीन साल में भारतीय सेना में शामिल किया जाएगा।

मिसाइल की विशेषताएं

इन मिसाइलों को जमीन और वाहन आधारित लांचर दोनों से दागा जा सकता है। इस मिसाइल को आक्रामक और रक्षात्मक कार्यों के लिए टैंक विरोधी भूमिका में तैनात किया जा सकता है।

महत्व

इस कदम से सरकार के ‘मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम को मजबूत करने में मदद मिलेगी। इन मिसाइलों के शामिल होने से सशस्त्र बलों की परिचालन तैयारियों में वृद्धि होगी। यह परियोजना रक्षा उद्योग की क्षमता का भी प्रदर्शन करेगी।

भारत में रक्षा उद्योग (Defence Industry in India)

सरकार अब भारतीय निजी क्षेत्र को मेक इन इंडिया (Make in India) और आत्मनिर्भर भारत (Atmanirbhar Bharat) कार्यक्रमों के तहत देश में रक्षा हार्डवेयर के अधिक निर्माण का काम करने के लिए प्रेरित कर रही है। यह भारत को अपने हथियारों के आयात और बिलों को कम करने में मदद कर रहा है। यह पहल भारत को एक रक्षा विनिर्माण केंद्र में भी बदल रही हैं। इस उद्देश्य के साथ, दो औद्योगिक गलियारे उत्तर भारत और दक्षिण भारत में स्थापित किए गए हैं।

Categories:

Tags: , , , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments