भारत करेगा मिस्र को गेहूं की आपूर्ति

यूक्रेन और रूस से गेहूं के दुनिया के सबसे बड़े आयातक मिस्र ने भारत को गेहूं आपूर्तिकर्ताओं में से एक के रूप में मंजूरी दे दी है। भारत करीब 10 लाख टन गेहूं की आपूर्ति करेगा, जिसमें से अप्रैल में 2,40,000 टन गेहूं की आपूर्ति की जाएगी। मिस्र एक साल में यूक्रेन, रूस और अन्य देशों से 11 से 12 मिलियन टन गेहूं खरीदता है।

मुख्य बिंदु 

  • भारत में ‘करनाल बंट’ रोग से संक्रमित भारतीय गेहूं की शिकायतों के बाद, भारत में मिस्र के अधिकारियों द्वारा संगरोध सुविधाओं की जांच और क्षेत्र के दौरे की एक कठोर प्रक्रिया के बाद, इस निर्यात को मंजूरी दी गई।
  • अधिकारियों ने देश में उत्पादित गेहूं की गुणवत्ता की जांच के लिए उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और पंजाब में गेहूं के खेतों का दौरा किया।
  • वित्त वश 23 में, भारत का लक्ष्य 10 से 11 मिलियन टन गेहूं का निर्यात करना है क्योंकि रूस-यूक्रेन संकट के बाद वैश्विक मांग बढ़ रही है।

मिस्र द्वारा यूक्रेन और रूस से गेहूं का आयात

रूस से, मिस्र ने लगभग 1.8 बिलियनडालर का गेहूं आयात किया है, और यूक्रेन से लगभग 610.8 मिलियनडालर का आयात किया है।

भारत का गेहूं निर्यात

अप्रैल से जनवरी 2021-22 की अवधि में, भारत का गेहूं निर्यात बढ़कर 1.74 बिलियन डालर हो गया, जबकि 2020-21 में इसी अवधि में यह 340.17 मिलियन डालर था। 2019-20 में देश का गेहूं निर्यात 61.84 मिलियन डालर का था। बांग्लादेश भारतीय गेहूं का सबसे बड़ा आयातक है। भारत ने अफगानिस्तान, यमन, इंडोनेशिया और कतर जैसे नए बाजारों में भी प्रवेश किया है। भारत दुनिया में लगभग 30 गेहूं आयात करने वाले देशों में यूक्रेनी और रूसी प्रभुत्व को बदलना चाहता है। इन 30 देशों में से करीब 10 से 15 मौजूदा ग्राहक हैं, लेकिन भारत की हिस्सेदारी बहुत कम है। विश्व में भारत का गेहूँ निर्यात 1 प्रतिशत से भी कम है। 2020 में शेयर 2016 में 0.14 प्रतिशत से बढ़कर 0.54 प्रतिशत हो गया है।

2020-21 में भारत से गेहूं आयात करने वाले शीर्ष 10 देश

  1. बांग्लादेश
  2. नेपाल
  3. संयुक्त अरब अमीरात
  4. श्रीलंका
  5. यमन
  6. अफ़ग़ानिस्तान
  7. कतर
  8. इंडोनेशिया
  9. ओमान
  10. मलेशिया

भारत में गेहूं का उत्पादन

भारत 2020 में वैश्विक गेहूं उत्पादन में लगभग 14.14 प्रतिशत की हिस्सेदारी के साथ दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा गेहूं उत्पादक था। सालाना, देश में 107.59 मिलियन टन गेहूं का उत्पादन होता है, जिसमें से अधिकांश का उपयोग घरेलू खपत (98 मिलियन टन) के लिए किया जाता है। गेहूँ उगाने वाले प्रमुख राज्य पंजाब, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, हरियाणा, बिहार, राजस्थान और गुजरात हैं।

वैश्विक बाजार में भारतीय गेहूं की कीमतों में तेजी

संकट के बाद भारतीय गेहूं की कीमतें 360 डॉलर प्रति टन तक पहुंच गईं। भारतीय गेहूं अभी भी वैश्विक बाजार में सबसे सस्ता है और वैश्विक बाजारों से रूस और यूक्रेन की अनुपस्थिति भारत को रिकॉर्ड मात्रा में गेहूं निर्यात करने का एक बड़ा अवसर प्रस्तुत करती है।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments