भारत की COVAXIN वैक्सीन कोविड-19 के नए स्ट्रेन का मुकाबला करने में सक्षम : शोध

Clinical Infectious Diseases नामक प्रकाशन के अनुसार भारत बायोटेक द्वारा निर्मित COVAXIN वैक्सीन कोविड-19 के नए स्ट्रेन का मुकाबला करने में सक्षम है। गौरतलब है कि कोवाक्सिन पूर्ण रूप से स्वदेशी वैक्सीन है। शोध के मुताबिक यह वैक्सीन भारत और यूके में पाए गये वैरिएंट के खिलाफ भी काफी प्रभावी है।

हाल ही में भारत बायोटेक ने COVAXIN की कीमत प्रति डोज़ राज्यों के लिए 600 से घटाकर 400 रुपये कर दी है। जबकि निजी अस्पतालों में COVAXIN 1200 रुपये प्रति डोज़ की दर से मिलेगा। इससे पहले कोविशील्ड की कीमत राज्यों के लिए 400 से घटाकर 300 रुपये कर दी गयी थी।

COVAXIN

  • COVAXIN भारत बायोटेक द्वारा निर्मित एक सरकारी समर्थित टीका है। इसकी प्रभावकारिता दर 81% है। COVAXIN वैक्सीन के चरण तीन परीक्षणों में 27,000 से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया है। COVAXIN दो खुराक में दिया जाता है। खुराक के बीच का समय अंतराल चार सप्ताह है। COVAXIN को मृत COVID-19 वायरस से तैयार किया गया था।

COVISHIELD

  • COVISHIELD वैक्सीन एस्ट्राज़ेनेका द्वारा निर्मित है। स्थानीय रूप से, COVISHIELD सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया द्वारा निर्मित किया जा रहा है। यह चिम्पांजी के एडेनोवायरस नामक एक सामान्य कोल्ड वायरस के कमजोर संस्करण से तैयार किया गया था। COVID-19 वायरस की तरह दिखने के लिए वायरस को संशोधित किया गया है। यह दो खुराक में लगाया जाता है।

भारत बायोटेक

यह एक भारतीय बायोटेक्नोलॉजी कंपनी है, इसका मुख्यालय हैदराबाद में है। इसकी स्थापना 1996 में कृष्णा एला द्वारा की गयी थी। इस कंपनी में 700 से अधिक कर्मचारी काम करते हैं।

 

 

 

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments