भारत ने विदेशी नागरिकों को CoWIN के माध्यम से Covid-19 वैक्सीन प्राप्त करने की अनुमति दी

भारत ने यहां रहने वाले विदेशी नागरिकों को 9 अगस्त, 2021 को CoWIN पोर्टल पर पंजीकरण करके कोविड-19 वैक्सीन प्राप्त करने की अनुमति दी।

मुख्य बिंदु 

  • CoWIN पोर्टल पर खुद को पंजीकृत करने के लिए विदेशी अपने पासपोर्ट का उपयोग पहचान दस्तावेज के रूप में कर सकते हैं।
  • इस पोर्टल पर पंजीकरण के बाद उन्हें टीकाकरण करवाने के लिए एक स्लॉट मिलेगा।
  • यह निर्णय कोविड-19 से सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए लिया गया था क्योंकि भारत में विशेष रूप से बड़े महानगरीय क्षेत्रों में बड़ी संख्या में विदेशी नागरिक निवास कर रहे हैं। ऐसे क्षेत्रों में अधिक जनसंख्या घनत्व के कारण कोविड-19 के फैलने का जोखिम अधिक होता है।
  • यह निर्णय भारत में रहने वाले विदेशी नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करेगा और असंक्रमित व्यक्तियों से संक्रमण के आगे हस्तांतरण की संभावनाओं को कम करेगा।

राष्ट्रीय कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम

भारत में राष्ट्रीय कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम 16 जनवरी, 2021 से लागू किया जा रहा है। इसे चार चरणों में शुरू किया गया था। वर्तमान चरण के तहत, इसमें 18 वर्ष और उससे अधिक आयु के सभी नागरिकों को शामिल किया गया है। अब तक, भारत में 51 करोड़ से अधिक लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

CoWIN क्या है?

CoWIN का अर्थ Covid Vaccine Intelligence Work है। यह COVID-19 टीकाकरण के लिए पंजीकरण करने के लिए भारत सरकार का एक वेब पोर्टल है। यह पोर्टल आस-पास के क्षेत्रों में COVID-19 वैक्सीन के स्लॉट प्रदर्शित करता है। यह एक सुरक्षित और भरोसेमंद पोर्टल है जिससे लोगों को यह जानकारी मिलती है कि उन्हें कब, कहां और किसके द्वारा टीका लगाया गया था। यह भारत में कोविड -19 टीकाकरण की योजना, कार्यान्वयन, निगरानी और मूल्यांकन करने के लिए क्लाउड-आधारित आईटी समाधान है। यह राष्ट्रीय, राज्य, जिला और साथ ही उप-जिला स्तर पर कोविड -19 टीकाकरण के उपयोग, अपव्यय और कवरेज की निगरानी करने की प्रणाली को भी अनुमति देता है। यह वास्तविक समय के आधार पर भारत में टीकाकरण अभियान को ट्रैक करता है और डिजिटल प्रारूप में टीकाकरण प्रमाण पत्र प्रदान करता है। यह eVIN (Electronic Vaccine Intelligence Network) का विस्तार है।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments