भारत बना दुबई का दूसरा सबसे बड़ा व्यापार भागीदार

चीन के बाद भारत दुबई का दूसरा सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार बनकर उभरा है। 

मुख्य बिंदु

  • दुबई सरकार के एक बयान के अनुसार, दुबई का 2021 की पहली छमाही (पहली छमाही) में चीन के साथ 86.7 बिलियन दिरहम का व्यापार था। इसके बाद भारत और अमेरिका क्रमशः दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं।
  • भारत के साथ व्यापार साल-दर-साल 74.5% बढ़कर 2021 में 67.1 बिलियन दिरहम हो गया है, जो वर्ष 2020 की पहली छमाही में 38.5 बिलियन दिरहम था।
  • चीन ने साल-दर-साल 30.7% की वृद्धि दर्ज की। इसका H1 2021 में दुबई के साथ कुल 66.3 बिलियन दिरहम का व्यापार था।
  • H1 2021 में, अमेरिका ने दुबई के साथ 32 बिलियन दिरहम का व्यापार किया। यह राशि 2020 में 31.7 बिलियन दिरहम से साल-दर-साल 1% बढ़ी है।
  • सऊदी अरब को 30.5 अरब दिरहम के व्यापार मूल्य के साथ चौथे स्थान पर रखा गया था। 2020 की पहली तिमाही की तुलना में इसमें 26% की वृद्धि हुई है।

व्यापार भागीदारों का कुल हिस्सा

2021 की पहली छमाही में पांच सबसे बड़े व्यापार भागीदारों की कुल हिस्सेदारी 241.21 बिलियन दिरहम थी, जबकि 2020 की पहली छमाही में यह 185.06 बिलियन दिरहम थी। इसमें 30.34% की वृद्धि हुई है।

व्यापार की सूची में कौन सी वस्तुएं सबसे ऊपर हैं?

दुबई के H1 बाहरी व्यापार में वस्तुओं की सूची में सोना सबसे ऊपर है, जिसकी राशि 138.8 बिलियन दिरहम है। यह दुबई व्यापार का 19.2% हिस्सा है। सोने के बाद टेलीकॉम का नंबर आता है जो कुल व्यापार का 13% है। इसके बाद हीरे, आभूषण और वाहन व्यापार का स्थान है। 

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments